November 28, 2021

प्रवासी भारतीय अब कुंभ जायेंगे

Spread the love

प्रवासी भारतीय अब कुंभ जायेंगे

के.एम. बग्गा
*************************

*वाराणसी:* प्रवासी भारतीय दिवस के समापन पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने विश्व के कोने-कोने में आपने काम से नाम रोशन करने वालों को प्रवासी भारतीय सम्मान प्रदान किया। इस बार यह एवार्ड क्रमश: निहाल सिंह अगर आस्ट्रेलिया सोशल सर्विस, राजेन्द्र नाथ खजांची भूटान सिविल इंजीनियरिंग, रमेश छोटाईकनाडा बिजनेस, अमित वायकर चीन बिजनेस, इंडियन कम्यूनिटी एसोसिएशन इन इज्प्टि इजिप्ट कम्यूनिटी सर्विस, मालिनी रंगनाथन पफांस एकेडमिक एंड आटर्स, गुयाना हिन्दू धार्मिक सभा गुयाना कम्यूनिटी सर्विस, भिताल दास माहेश्वरी इटली बिजनेस, गुनाशेखर मुपुरी जमाएका मेडिकल साइंस एंड इंटरप्रीयूनरशिप, पीवी संबाशिव राव केन्या टेक्नॉलाजी, प्रकाश माधव दास हेडा केन्या मेडिकल साइंस, राजपाल त्यागी कुवैत आर्किटेक्चर, बनवारी लाल सत्यनारायण गोयनका म्यांमार बिजनेस मैनेजमेंट, भवदीप सिंह ढिल्लन न्यूजीलैंड बिजनेस, हिमांशु गुलाटी नार्वे पब्लिक सर्विस, विनोदन वैरमवेली थाजिकुनील ओमान बिजनेस, जगदेश्वर राव मदुकुरी पोलैंड इंटरप्रीयूनरशिप, पूणेन्दु चंद तिवारी कतर टेनिंग एंड स्टीमूलेशन, अनिल सुकलाल साउथ अफ्रीका डिप्लोमेसी, स्वामी सारदाप्रभानंद साउथ अफ्रीका कम्यूनिटी सर्विस, राजेन्द्र कुमार जोशी स्विटरलैंड साइंस, शमीम परकर खान तनजानिया पब्लिकसर्विस, गिरिश पंत यूएई बिजनेस,सुरेन्द्र सिंह खंडारी यूएई बिजनेस, जुलेखा दाउद यूएई मेडिकल साइंस एंड बिजनेस, राजेश चापलोट युगांडा चार्टेड एकाउंटेंटस, चंद्रशेखर मिश्र यूएसए साइंस, गीता गोपीनाथ यूएसए एकेडमिक्स, गिरिश जयंतीलाल देसाई यूएसए स्टक्चरल इंजीनियरिंग तथा किरन छोटीभाई पटेल यूएई मेडिकल साइंस को दिया गया।

*मोदी सरकार ने दो गुने पुरस्कार दिये

केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राष्ट्रपति सहित प्रवासियों का स्वागत करते हुए बताया कि प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम की परंपरा है कि इसका उद्घाटन पीएम एवं समापन राष्ट्रपति करते हैं। उन्होंने बताया कि प्रवासियों द्वारा इलाहाबाद के कुंभ एवं गणतंत्र दिवस परेड में सम्मिलित होने की इच्छा जताए जताई जाने पर जाने पर प्रवासी दिवस कार्यक्रम की तिथियों मेंपरिवर्तन किया गया। उन्होंने बनारसियों एवं भारत वंशियो की तरफ से भी राष्ट्रपति का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम की शुरूआत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई द्वारा किया गया था। वर्ष 2015 से पूर्व यह प्रतिवर्ष मनाया जाता था और 15 प्रवासी भारतीयों को सम्मानित किया जाता रहा किन्तु 2015 से प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम को प्रत्येक दूसरे वर्ष मनाया जाता है। बावजूद इसके प्रवासियों को सम्मानित किए जाने में कोई कमी नही किया गया और इसी लिए इसकी संख्या 30 कर दी गई है।