May 24, 2022

2025 महाकुंभ को भी दिव्य एवं भव्य बनाने के दृष्टिगत मंडल आयुक्त ने सभी संबंधित विभागों की संयुक्त बैठक की – सुरेंद्र कुमार

Spread the love

2025 महाकुंभ को भी दिव्य एवं भव्य बनाने के दृष्टिगत मंडल आयुक्त ने सभी संबंधित विभागों की संयुक्त बैठक की।

हर्षवर्धन, मेडिकल कॉलेज एवं आईईआरटी जैसे प्रमुख चौराहों को डीकन्जेस्ट कराने हेतु फीजिबिलिटी स्टडी कराने के निर्देश।

उपाध्यक्ष प्रयागराज विकास प्राधिकरण की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित कर दी गई है जो फीजिबिलिटी रिपोर्ट 1 माह के भीतर प्रस्तुत करेगी।

नगर निगम को अपशिष्ट एवं लिक्विड वेस्ट प्रबंधन हेतु एक विस्तृत कार्य योजना तैयार करने के निर्देश।

अरैल स्थित त्रिवेणी पुष्प पर एक कुंभ डिजिटल म्यूजियम बनाने का भी सुझाव

प्रमुख मंदिरों की अप्रोच रोड के चौड़ीकरण तथा द्वादश माधव दर्शन सर्किट बनाने के भी निर्देश।

मनसैता नाले पर स्थाई पुलिया बनाने, दशाश्वमेध घाट का जीर्णोद्धार करने एवं नाग वासुकी के पास कटान निरोधक कार्य कराने के प्रपोजल पर आईआईटी की फीजिबिलिटी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश।

शासन की मंशा के अनुरूप 2025 महाकुंभ को भी दिव्य एवं भव्य बनाने के दृष्टिगत मंडल आयुक्त श्री संजय गोयल ने कार्यालय स्थित गांधी सभागार में आज सभी संबंधित विभागों की संयुक्त बैठक ली जिसमें प्रयागराज को पर्यटन की दृष्टि से और बेहतर बनाने हेतु कुछ आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। सर्वप्रथम जनपद में ट्रैफिक व्यवस्था को और बेहतर बनाने हेतु हर्षवर्धन, मेडिकल कॉलेज एवं आईईआरटी जैसे प्रमुख चौराहों, जहां पर कुंभ मेला ट्रैफिक सबसे अधिक होता है, को डीकन्जेस्ट कराने के लिए फीजिबिलिटी स्टडी कराने के निर्देश दिए गए। इस कार्य हेतु उपाध्यक्ष प्रयागराज विकास प्राधिकरण श्री अरविंद कुमार चौहान की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित कर दी गई है जिसमें पीडब्ल्यूडी, नेशनल हाईवे, सेतु निगम तथा लोक निर्माण विभाग समेत सभी संबंधित विभागों के अधिकारी होंगे। यह कमेटी सभी भीड़भाड़ वाले इलाकों का सर्वे कर अपनी फीजिबिलिटी रिपोर्ट 1 माह के भीतर मंडल आयुक्त के समक्ष प्रस्तुत करेगी। इसके अतिरिक्त इस कमेटी को कुंभ के दृष्टिगत उचित पार्किंग व्यवस्था हेतु संभावित पार्किंग स्थलों का भी चिन्हिकरण करने का निर्देश दिया गया है।

इसी क्रम में कुंभ मेले 2025 के दौरान शहर में सफाई व्यवस्था को और बेहतर बनाए रखने के दृष्टिगत मंडलायुक्त ने नगर निगम के अधिकारियों को अपशिष्ट एवं लिक्विड वेस्ट प्रबंधन हेतु भी एक विस्तृत कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं जिससे कि आने वाले वर्षों में अपशिष्ट प्रबंधन हेतु ठोस इंतजाम किए जा सके। उन्होंने विभाग को प्राथमिकता वाले प्रोजेक्ट्स की सूची तैयार करने को भी कहा है जिससे कि निर्धारित समय सीमा में जितने भी प्रोजेक्ट पूरे किए जा सकें सिर्फ उन्हें ही लिया जाए।

बैठक में अरैल स्थित त्रिवेणी पुष्प पर एक कुंभ डिजिटल म्यूजियम बनाने का भी सुझाव पर्यटन विभाग द्वारा दिया गया जिस पर मंडलायुक्त ने एक विस्तृत कार्ययोजना तैयार कर उनके समक्ष प्रस्तुत करने को कहा है। इस प्रपोजल के साथ ही कर्जन ब्रिज पर जो रिवर वाटर म्यूजियम बनाने का प्रस्ताव पहले से दिया जा चुका है उस पर भी आगे की कार्यवाही करने को कहा गया है। साथ ही पर्यटन की दृष्टि से पत्थर गिरजाघर की रोटरी को भी और विकसित करने पर चर्चा की गई एवं उसे और बेहतर कैसे बनाया जा सकता है इस पर सुझाव मांगे गए हैं।

प्रयागराज में आने वाले श्रद्धालुओं को प्रमुख मंदिरों तक जाने में कोई कठिनाई न हो इसके दृष्टिगत कुछ प्रमुख मंदिरों की अप्रोच रोड के चौड़ीकरण का भी सुझाव दिया गया है जिसमें ललिता देवी मंदिर एवं तक्षक पीठ तक जाने वाली सड़कों को और चौड़ा करने का सुझाव दिया गया है। साथ ही प्रयागराज की महत्वता को दर्शाते यहां के द्वादश माधव मंदिरों को पर्यटन सर्किट से जोड़ने हेतु एक द्वादश माधव दर्शन सर्किट बनाने के भी निर्देश पर्यटन विभाग को दिया गया है जिससे कि यहां आने वाले श्रद्धालुओं को सभी मंदिरों का दर्शन एक बार में ही कराया जा सके।

बैठक में विद्युत विभाग द्वारा कुंभ मेला क्षेत्र, आसपास के प्रमुख मंदिरों तथा अन्य भीड़भाड़ वाले इलाकों पर वायरिंग अंडरग्राउंड कराने का भी सुझाव दिया गया है। साथ ही सिंचाई विभाग ने मनसैता नाले पर स्थाई पुलिया बनाने, दशाश्वमेध घाट का जीर्णोद्धार करने एवं नाग वासुकी के पास कटान निरोधक कार्य कराने हेतु भी प्रपोजल दीया है जिसकी समीक्षा करते हुए मंडलायुक्त ने सभी कार्यों की फीजिबिलिटी रिपोर्ट आईआईटी से कराकर उनके समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।