January 21, 2022

प्रियंका गांधी और काग्रेस को लेकर बनारस के ज्योतिषाचार्य की बड़ी भविष्यवाणी, बोले भारतीय राजनीति में आएगा बड़ा भूचाल

Spread the love

. प्रियंका गांधी वाड्रा के राजनीति में आने के साथ जहां राजनीतिक हल्कों में घमासान मचा है। वहीं ज्योतिषाचार्यों के यहां भी लोग पहुंचने लगे हैं। प्रियंका की कुंडली के मुताबिक उनके ग्रह-नक्षत्रों को पता लगाने की जुगत में भी लोग जुट गए है। इसी कड़ी में काशी के ज्योतिषाचार्य से बात की तो उन्होने उनके कुंडली को देख कर ज्योतिषीय गणना कर जो परिणाम बताए वो विपक्षियों के होश फाक्ता करने वाला है। जानते हैं क्या कहती है प्रियंका गांधी जन्म कुंडली…

काशी के ज्योतिषाचार्य, श्री काशी विश्वनथ मंदिर कार्यपालक परिषद के सदस्य पंडित ऋषि द्विवेदी ने पत्रिका से बातचीत में बताया कि प्रियंका गांधी का जन्म 12 जनवरी 1972 को 1.59 am को दिल्ली में हुआ है। उनका लग्न तुला और राशि वृश्चिक है। ये दोनों मिल कर कांग्रेस के लिए उनका राजनीतिक सफर मील का पत्थर साबित होगा। वासे 25 फरवरी 2015 से ही शुक्र की महादशा शुरू हो चुकी है जो 25 फरवरी 2035 तक चलेगी। यह प्रियंका के जीवन का स्वर्णकाल है।

पंडित द्विवेदी बताते हैं कि कुंडली में शुक्र की महदशा के बीच सूर्य का अंतर 25 जून 2018 से शुरू हो चुका है जो 29 जून 2019 तक रहेगा। ये काल तो सोने पे सुहागा है। इस तरह ज्योतिषीय गणना के मुताबिक प्रियंका गांधी के ग्रहों का बल कांग्रेस को और मजबूत कर रहा है। वैसे भी पिछले करीब साल भर से काग्रेस का समय भी ज्योतिष गणना के मुताबिक बदला है और उसके परिणाम सामने आने लगे हैं। मसलन कर्नाटक विधानसभा चुनाव के बाद हाल ही में तीन राज्यों, मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ के चुनाव परिणाम हैं। ऐसे में कांग्रेस के अच्छे ग्रह को प्रियंका गांधी के यह स्वर्ण काल का प्रबल समर्थन प्राप्त हो रहा है जो कांग्रेस के लिए सत्ता में वापसी का मार्ग प्रशस्त करता दिख रहा है।

उन्होंने कहा कि लग्नेश शुक्र का पंचम भाव ज्योतिषीय गणना के अनुसार पद प्रतिष्ठा का भाव माना जाता है। इसमें सूर्य का अंतर पर आयेश हो कर पराक्रम स्थल में बैठा है। कहा कि 25 जून 2019 के बाद तो प्रियंका का भाग्य चरम पर होगा। अगर उस वक्त देश की सत्ता की बागडोर संभालने की बात आती है तो वह सबसे आगे होंगी। पंचमेश में दशमेश की यह दशा उन्हें प्रधानमंत्री पद पर ले जा सकती है। हालांकि यह ग्रहदशा केवल प्रियंका गांधी की कुंडली के अनुसार है, उस वक्त और जो लोग उस दौड़ में होंगे उनके ग्रह नक्षत्रों की गणना और प्रभाव पर भी बहुत कुछ निर्भर करेगा। लेकिन अगर वह देश के सर्वोच्च पद पर पहुंचती हैं जैसा उनके ग्रह गोचर बता रहे हैं तो उसके आगे का वक्त भी उनके लिए सर्वथा अनुकूल है जो यह बताता है कि वह लंबी पारी खेलेंगी। साथ ही 26 जून के बाद और भी बड़े ग्रह अनुकूल हो रहे हैं। पंडित द्विवेदी ने कहा कि प्रियंका का राजनीति में आना कांग्रेस के लिए फलदायी होगा और प्रियंका कांग्रेस सत्ता में लाएंगी।