June 16, 2024

पीएम आवास योजना की पहली किस्‍त मिलते ही प्रेमियों संग फुर्र हुईं पत्नियां, रिकवरी नोटिस लेकर घूम रहे पति-

Spread the love

*अजब-गजब: पीएम आवास योजना की पहली किस्‍त मिलते ही प्रेमियों संग फुर्र हुईं पत्नियां,रिकवरी नोटिस लेकर घूम रहे पति*

 

*बाराबंकी।* उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे बाराबंकी जिले में अजीबो-गरीब मामला सामने आया है।यहां सरकार की ओर से प्रधानमंत्री आवास के लिए पहली किस्त मिलते ही पत्नियां बेवफा हो गईं।ये अपने-अपने पतियों को छोड़कर प्रेमियों के साथ फुर्र हो गईं हैं।पत्नियों के फुर्र होने से परेशान पतियों के सामने दो समस्याएं खड़ी हो गई हैं।एक अभी तक निर्माण कार्य शुरू न कराए जाने से जिला नगरीय विकास अभिकरण ने उन्हें नोटिस भेजा है। दूसरी समस्‍या विभाग द्वारा रिकवरी किए जाने का खौफ पैदा हो गया है।वहीं अब बेवफा पत्नियों के पति समझ नहीं पा रहे कि आखिर करें तो करें क्या।पीड़ित पतियों ने पीओ डूडा के पास दूसरी किस्त खाते में न भेजे जाने की गुहार लगाई है।

 

बता दें कि शहरी क्षेत्र के आवासहीन लोगों के लिए पक्का मकान बनाने के लिए प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना है। इस योजना में महिलाएं भी लाभार्थी हैं।इसी के तहत बाराबंकी जिले की नगर पंचायत बेलहरा, बंकी, जैदपुर और सिद्धौर की चार महिला लाभार्थियों के खाते में आवास की पहली किस्त आई थी।आवास की पहली किस्त में आए पचास हजार रुपए लेकर यह चारों महिलाएं अपने-अपने प्रेमियों के साथ फुर्र हो गईं हैं।अब बेवफा पत्नियों के पतियों का कहना है कि साहब अब पत्नियों के खाते में दूसरी किस्त न भेजना, क्योंकि मेरी पत्नी पहली किस्त लेकर प्रेमी के साथ भाग गई है।

 

इन लाभार्थियों का आवास निर्माण कार्य शुरु न होने पर पीओ डूडा सौरभ त्रिपाठी ने नोटिस भेजकर तुरंत आवास के निर्माण का काम शुरू कराने का आदेश दिया था।नोटिस के बाद भी निर्माण शुरू नहीं हुआ तो फिर दूसरी बार रिकवरी के लिए नोटिस भेजने पर इस मामले का खुलासा हुआ।चारों महिलाओं के पतियों ने कार्यालय पहुंचकर बताया कि साहब हमारी पत्नियां पहली किस्त के 50 हजार रुपए लेकर अपने प्रेमी संग भाग गई हैं।इसलिए दूसरी किस्त रोक दी जाए। वहीं अब इन लाभार्थियों से कैसे रिकवरी की जाए इसको लेकर जिले के अधिकारी भी परेशान हैं।

 

नगर पंचायत फतेहपुर की भी दो महिलाएं पीएम शहरी आवास योजना की लाभार्थी हैं।इनको पहली किस्त मिलनी थी,लेकिन यह दोनों महिला लाभार्थी भी पतियों को छोड़कर प्रेमी के साथ एक महीने पहले ही फुर्र हो गईं।इनके पतियों ने भी आवास की किस्त न भेजने की मांग की।इसकी जांच कराई गई तो शिकायत सही मिली।इन दोनों लाभार्थियों का पैसा रोक दिया गया है।

 

आपको बताते चलें कि प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के तहत जिले में अब तक 16 हजार चार लाभार्थियों के खाते में पहली किस्त भेजी जा चुकी है,लेकिन इसमें से 40 लाभार्थी ऐसे हैं जिन्होंने पैसा खाते से निकाल लिया और आवास निर्माण का काम शुरू नहीं किया।इनमें बेवफा पत्नियों के पति भी शामिल हैं।इन लाभार्थियों को दो बार नोटिस जारी करने के बाद काम शुरू न होने पर अब इनके खिलाफ आरसी जारी करके, सभी लाभार्थियों से 20 लाख रुपए की रिकवरी की तैयारी शुरू हो गई है।विभाग इन सभी से रिकवरी कर इन्हें ब्लैक लिस्टेड कर देगा, जिससे यह दोबारा आवेदन भी नहीं कर पाएंगे।

 

पीओ डूडा सौरभ त्रिपाठी ने बताया कि चार महिला लाभार्थी आवास की किस्त मिलने पर पतियों को छोड़ कर किसी दूसरे के साथ चली गई है।नोटिस जारी होने पर उनके पतियों ने यह जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा फतेहपुर से दो प्रार्थना प्रत्र मिले कि उनकी पत्नियां दूसरे के साथ चली गई हैं, इसलिए उनकी भी पहली किस्त रोकी गई हैं।विभाग सभी से रिकवरी करने की कोशिश की कर रहा है। FTR