May 24, 2022

गोरखपुर के DM का कानूनी हंटर

Spread the love

*प्रत्येक थाने हर महीने दस अपराधियों का हिस्ट्रीशीट खोल कर भेजें सलाखों के पीछे-डीएम*

*कोटे की दुकानों को समय-समय पर किया जाए घटतौलि व यूनिट को चेक-डीएम*

*लक्ष्य के सापेक्ष शत-प्रतिशत राजस्व वसूली करें सुनिश्चित- डीएम*

गोरखपुर। जिलाधिकारी विजय किरन आनंद की अध्यक्षता में जिलाधिकारी सभागार में राजस्व प्रशासन के साथ की गई बैठक। जिलाधिकारी ने समस्त एसडीएम व तहसीलदार नायब तहसीलदार को निर्देशित किया कि अपराध खनन भू माफियाओं शराब तस्कर पर पूर्ण रूप से लगाएं अंकुश। अपने-अपने तहसील के अंतर्गत प्रत्येक थाने के अपराधियों शराब तस्कर खनन माफिया को चिन्हित कर हिस्ट्रीशीट खोलें प्रत्येक महीने 10-10 चिन्हित अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजने का काम करें जिससे एक साल के अंदर जनपद से अपराधियों का सफाया हो सके और अपराधियों पर पूर्ण रूप से लगाम लग सके डीएम ने एसडीएम व तहसीलदार को निर्देशित यह भी किया कि अपने अपने तहसील के अंतर्गत कोटे की दुकानों को समय-समय पर निरीक्षण कर घटतौल व कार्ड पर कितने यूनिट दर्ज किए गए है उतना यूनिट कोटेदार पात्र लाभार्थियों को दे रहा है या नहीं को चेक करें जिससे पात्र लाभार्थियों को जितनी यूनिट राशन मिलना चाहिए उतना राशन मिल रहा है कि नही अगर नही दिया जा रहा है तो उक्त है कोटेदार के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई किया जाए जिससे कोटेदार द्वारा घटतौलि ना किया जा सके।संबंधित अधिकारीगण शत प्रतिशत राजस्व वसूली करें निर्धारित कलेक्ट्रेट के सभागार में कर-करेत्तर राजस्व वसूली की मासिक समीक्षा बैठक हुई। डीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रवर्तन की प्रभावी कार्रवाई करते हुए निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष शत-प्रतिशत राजस्व वसूली सुनिश्चित की जाए।
कर-करेत्तर राजस्व की विभागवार समीक्षा में पाया गया कि वाणिज्यकर, खनन, स्थानीय निकाय, परिवहन, खनन आदि की राजस्व वसूली की प्रगति संतोषजनक न होने से डीएम ने कहा कि राजस्व वसूली शत प्रतिशत किया जाये एआरटीओ प्रवर्तन को निर्देशित किया अभियान चलाकर वसूली में प्रगति सुनिश्चित करें। ओवरलोड वाहनों की व्यापक धर-पकड़ करते हुए नियमानुसार कार्रवाई करें। आबकारी अधिकारी को मदिरा दुकानों की नियमित जांच करने के निर्देश दिए तथा अवैध शराब के धर-पकड़ करने पर जोर दिया। समीक्षा के दौरान आबकारी विभाग की लक्ष्य के सापेक्ष वसूली की प्रगति अच्छी पाई गई। जिलाधिकारी ने सभी एसडीएम व तहसीलदारों को निर्देशित किया कि विविध देयों की वसूली में तेजी लाएं। वादों का निस्तारण समय से सुनिश्चित करें। वरासत के अविवादित मामलों को फौरन निबटाया किया जाए। पांच वर्ष से अधिक वादों को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारित किया जाना सुनिश्चित करें। आईजीआरएस सहित विभिन्न स्तरों से प्राप्त होने वाले प्रार्थना-पत्रों का समय से निस्तारण कराएं। यह भी सुनिश्चित करें कि कोई भी प्रकरण डिफाल्टर की श्रेणी में न रहने पाए। बैठक में प्रमुख रूप से एडीएम सिटी विनीत कुमार सिंह एडीएम प्रशासन पुरुषोत्तम गुप्ता एडीएम वित्त राजेश कुमार सिंह सीआरओ सुशील गौड़ सिटी मजिस्ट्रेट अभिनव रंजन श्रीवास्तव एसडीएम सहजनवा सुरेश राय एसडीएम चौरी चौरा रजत वर्मा एसडीएम गोला रोहित मौर्य एसडीएम खजनी पवन कुमार एसडीएम बांसगांव दुर्गेश मिश्रा एसीएम विनय पांडेय तहसीलदार सदर वीरेंद्र गुप्ता तहसीलदार चौरीचौरा विकास सिंह एसओसी एमडी मौर्य अपर एसडीएम सदर अनुपम मिश्रा नायब तहसीलदार सदर विनोद कुमार नायब तहसीलदार चौरीचौरा अल्का सिंह नायब तहसीलदार गोला वशिष्ठ अन्य मौजूद रहे।