October 19, 2021

रेल एवं कोयला मंत्री श्री पीयूष गोयल

Spread the love

वाराणसी01 फरवरी, 2019: वित्त, रेल एवं कोयला मंत्री श्री पीयूष गोयल ने वर्ष 2019-20 का अन्तरिम केन्द्रीय आम बजट प्रस्तुत किया, जिसमें भारतीय रेल का कुल बजट रू0 1,58,658 करोड़ रखा गया है व जबकि बजटीय सपोर्ट रू0 64,587 करोड़ होगा। बजट प्रस्तुति के दौरान श्री पीयूष गोयल ने कहा कि वर्ष 2018-19 भारतीय रेल के इतिहास का सबसे संरक्षित वर्ष रहा । भारतीय रेल पर बड़ी लाइन पर स्थित सभी अनारक्षित समपारों को समाप्त कर दिया गया । वर्ष 2019-20 में भारतीय रेल का आपरेटिंग रेशियों 95 प्रतिशत प्रस्तावित किया गया है । उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष त्रिपुरा एवं मिजोरम राज्य भारतीय रेलवे के नेटवर्क पर आ गये ।
पूर्वोत्तर रेलवे पर चल रही परियोजनाओं के लिये धनराशि का आबंटन किया गया है, ताकि परियोजनायें समय से पूरी हो सकें।
पूर्वोत्तर रेलवे पर नई लाइन निर्माण मद में रू0 426.4  करोड़ , आमान परिवर्तन मद में रू0 255.1 करोड़, दोहरीकरण मद में रू0 902 करोड़ का आबंटन किया गया है। ज्ञातव्य है कि पूर्वोत्तर रेलवे पर सभी शेष मीटर गेज रेल खण्ड आमान परिवर्तन हेतु एवं सभी बड़ी लाइन खण्ड विद्युतीकरण हेतु स्वीकृत हैं। दोहरीकरण और नई लाइन निर्माण में नया कार्य सम्मिलित नही है। यातायात सुविधाओं के लिये रू0 74.58 करोड़, सड़क संरक्षा कार्य (समपार) हेतु रू0 79.21 करोड़ , सड़क संरक्षा कार्य (सड़क उपरिगामी पुल/सड़क अधोगामी पुल) हेतु रू. 215.63, ट्रैक नवीनीकरण के अन्तर्गत पुराने कार्यों हेतु रू. 396.71 करोड़ एवं नये कार्यों हेतु रू. 60 करोड़, पुलों के कार्यों हेतु 24.17 करोड़, सिगनलिंग एवं दूर संचार कार्यों हेतु रू. 52.65 करोड़ का आवंटन हुआ है। यात्री सुविधाओं के मद में कुल रू0 187.17 करोड़ की निधि का प्रावधान किया गया है।