November 28, 2021

राहुल का मोदी को जवाब- 1 किसान को साढ़े 3 रुपये

Spread the love

कांग्रेस बिहार में ‘जन आकांक्षा रैली’ के बहाने अपनी स्थिति मजबूत करने में जुटी है। इसके तहत ही पार्टी ने 30 साल बाद आज पटना के गांधी मैदान में रैली का आयोजन किया। इस रैली में राष्ट्रीय जनता दल के तेजस्वी यादव समेत महागठबंधन के अन्य नेता शामिल हुए। इस रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने बजट में किसानों के लिए की गई घोषणाओं को उनका अपमान बताया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार पूंजीपतियों के लिए तो खूब पैसे देती है, लेकिन किसानों को 17 रुपये देती है। यह किसानों का अपमान है।

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि नोटबंदी दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला है। मोदी कहते हैं कि हर आदमी को 15 लाख देंगे, लेकिन यहां कोई ऐसा है जिसे मिला है। उन्होंने कहा कि बिहार में विपक्ष की सरकार आने वाली है। इसके गहरे कारण हैं। मोदी जी जहां जाते हैं बड़े बड़े वादे कर जाते हैं। नीतीश जी की भी यही आदत है। लेकिन वादे पूरे नहीं किए जाते हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि किसान को 17 रुपये देना उनका अपमान करना है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि बजट में मोदी सरकार ने बड़ी घोषणा की। बीजेपी के नेताओं ने कहा कि ऐतिहासिक निर्णय लिया है, और पांच मिनट तक उन्होंने धड़ाधड़ तालियां बजाईं। किसानों के लिए उन्होंने ऐतिहासिक काम किया। मोदी जी यूं ताली बजा रहे हैं। पता है उन्होंने क्या ऐतिहासिक काम किया है? किसानों को 17 रुपये दिए और किसान के परिवार के लिए दिन के साढ़े तीन रुपये दिए। तो मोदी जी की सरकार ने किसानों को ये दिए और बीजेपी के मंत्री धड़ाधड़ संसद में ताली बजाते हैं।

राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार अंनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपये देती है, नीरव मोदी को 35 हजार करोड़ रुपये और विजय माल्य को 10 हजार करोड़ देती है, लेकिन हिन्दुस्तान के किसानों को साढ़े तीन रुपये देती है। मोदी सरकार का यही ऐतिहासिक फैसला है? राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी ने देशवासियों से 15 लाख रुपये देने का वादा किया था, लेकिन किसी के खाते में ये पैसे आए क्या? मोदी सरकार ने 17 रुपये देकर किसान का अपमान किया है।

इससे पहले राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और छत्तीसगढ़ सीएम भूपेश बघेल मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ, महागठबंधन के शरद यादव, जीतन राम मांझी, उपेन्द्र कुशवाहा, तेजस्वी यादव के साथ वाम दलों के नेताओं ने भी रैली को सम्बोधित करते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा।