July 6, 2022

मॉनसून की आहट, भारी बारिश की आशंका के मद्देनजर कई राज्यों में येलो अलर्ट-

Spread the love

मॉनसून की आहट, भारी बारिश की आशंका के मद्देनजर कई राज्यों में येलो अलर्ट

दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून ने दस्तक दे दी है. 27 मई को मॉनसून के केरल पहुंचने की उम्मीद है. केरल, तमिलनाडु समेत तटीय क्षेत्रों में प्री मॉनसून बारिश शुरू हो गई है. बारिश की आशंका के मद्देनजर मौसम विभाग ने कई राज्यों में अलर्ट जारी किया है. बारिश का असर असम समेत पूर्वोत्तर राज्यों में बाढ़ की स्थिति पर पड़ेगा.

 

 

नई दिल्ली : केरल के कम से कम 10 जिलों में शनिवार और रविवार को भारी बारिश होने की संभावना है और भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने येलो अलर्ट जारी किया है. आईएमडी ने तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पथनमथिट्टा, अलाप्पुझा, कोट्टायम, एर्णाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर, मालप्पुरम और कोझीकोड जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है, जबकि वायनाड में भी 22 मई के लिये येलो अलर्ट जारी किया गया है.

 

रेड अलर्ट 24 घंटों में 20 सेंटीमीटर से अधिक की भारी से बेहद भारी बारिश का संकेत देता है, जबकि ऑरेंज अलर्ट का मतलब 6 सेंटीमीटर से लेकर 20 सेंटीमीटर तक बहुत भारी बारिश होती है. येलो अलर्ट का मतलब है 6 से 11 सेंटीमीटर के बीच भारी बारिश. इडुक्की जिले के अधिकारियों के अनुसार, कल्लारकुट्टी बांध का जल स्तर 455 मीटर के खतरे के निशान के स्तर पर पहुंच गया है, इसलिए 300 क्यूमेक्स पानी छोड़ने के लिए फाटक खोल दिए गए हैं. राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने पानी के प्रवाह को लेकर पेरियार नदी के किनारे लोगों को सतर्क रहने की हिदायत दी है.आईएमडी के अनुसार, उत्तरी केरल तट पर 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे से लेकर 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चलने की संभावना है. मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है. आईएमडी ने पहले पूर्वानुमान जताया था कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के कारण केरल में इसकी सामान्य शुरुआत की तारीख से पांच दिन पहले 27 मई तक पहली बारिश होने की संभावना है.