January 21, 2022

*बापू के अपमान के विरोध में काशी की जनता सड़को पर*

Spread the love

वाराणसी 06.फरवरी। गत 30 जनवरी को शहीद दिवस पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र पर हिंदूवादी संगठनों द्वारा गोली मारकर बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे को महिमा मंडित किये जाने की शर्मनाक घटना से छुब्ध राजनैतिक, सामाजिक संगठनों एवं प्रबुद्ध नागरिकों ने वाराणसी में प्रतिरोध मार्च निकालकर अपने गुस्से का इजहार किया । मार्च लहुराबीर स्थित आजाद पार्क से चलकर चेतगंज, नई सड़क, गौदोलिया होते हुए दशाश्वमेध स्थित चितरंजन पार्क में पहुचकर संम्पन हुआ। मार्च में सम्मिलित लोग गोडसे और उसके समर्थक शक्तियों के खिलाफ नारे लगाते हुए चल रहे थे। “बापू का यह अपमान नहीं सहेगा हिंदुस्तान”, “बापू का अपमान करने वालों पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा कायम करो”, “बापू के चित्र पर गोली चलाने वालों को गिरफ्तार करों”, ” बापू हम शर्मिंदा हैं तेरे क़ातिल जिंदा हैं” आदि नारे लगा रहें लोगों के हाथों में महात्मा गांधी के प्रेम,अहिंसा के संदेश की तख्तियां थीं। प्रतिरोध मार्च चितरंज पार्क में सभा के रूप में तब्दील हो गया। वहाँ उपस्थित लोगों ने उपरोक्त घटना की कड़ी शब्दों में निंदा करते हुए , दोषियों पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज कराने की मांग की। वक्ताओं ने आरोप लगाया कि केंद्र की सरकार के सह और सरंक्षण पर आतंकी सोच रखने वाले साम्प्रदायिक संघठनो द्वारा ऐसे निंदनीय कृत्य किया जा रहा हैं।
सभा मे कहा गया कि देश और समाज को धार्मिक कट्टरता,नफरत और हिंसा की आग में झोंकने का प्रयत्न किया जा रहा हैं जिसे कोई भी सभ्य, लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष व्यक्ति बर्दाश नहीं कर सकता। वक्ताओं ने सवाल खड़ा करते हुए कहा कि यह घटना उस समय हुई जब संसद का सत्र चल रहा हैं और इसपर संसद में सवाल न खड़ा होना दुर्भाग्यपूर्ण हैं। जनप्रतिनिधियों की खामोशी पर वक्ताओं ने छोभ व्यक्त करते हुए कहा कि संसद को बांझ और आवारा होने से बचाने के लिये, सड़क पर कोहराम मचाना जरूरी हो गया हैं। उपरोक्त घटना में सम्मिलित लोगों का खुलेआम घूमना साबित करता हैं कि सत्ता फासिस्ट सोच को ताकत दे रहीं हैं। इन ताकतों के खिलाफ लोकतंत्र, समानता और धर्मनिरपेक्षता के पक्षधर एकजुटता के साथ आवाज़ उठाते रहेंगे।
मार्च और सभा मे सर्वश्री अरविंद सिंह,संजीव सिंह(आप),दिनेश चौबे (सपा ),डॉ ओ.पी. सिंह(सपा),कुँवर सुरेश सिंह,किशन दीक्षित (सपा ),नंदलाल पटेल( भाकपा ),राधेश्याम सिंह (कांग्रेस ),राकेश पाठक (राष्ट्रवादी कांग्रेस), शिवनाथ यादव (सीपीएम ),
अविनाश सिंह( सपा ),वीरेंद्र कपूर( कांग्रेस ),महफूज अहमद (समाजवादी युवजन सभा ),कन्हैया लाल मिश्रा (राष्ट्रवादी कांग्रेस),जागृति राही,डॉ आनंद प्रकाश तिवारी, डॉक्टर मोहम्मद आरिफ, एजाज अहमद (आप ),सिराजुल हक अंसारी( सपा), जयप्रकाश यादव,अब्दुल्लाह खां,पल्लवी वर्मा, अर्चना श्रीवास्तव, विनोद जयसवाल, मिराज अहमद, आकिब खान, माज अंसारी,दिनेश चौबे, इरफान अहमद, शुभम सिंह( सपा),
रामदुलार (सीपीएम) आदि लोग सम्मिलित थे ।