June 17, 2024

पेटेण्ट दवा कम्पनियों के नाम से नकली/अवैध दवाओं का अवैध व्यापार करने वाले अन्तर्राज्यीय गैंग के 05 सदस्य गिरफ्तार-

Spread the love

*स्पेशल टास्क फोर्स, उत्तर प्रदेश लखनऊ।*

*प्रेस नोट संख्याः 98, दिनांक 25-04-2023*

 

*पेटेण्ट दवा कम्पनियों के नाम से नकली/अवैध दवाओं का अवैध व्यापार करने वाले अन्तर्राज्यीय गैंग के 05 सदस्य गिरफ्तार, लगभग 25 लाख रूपये की नकली/अवैध दवा बरामद तथा पूर्व में करोड़ों रूपये के बेचे गये नकली दवाओं का बिल-बाउचर बरामद।*

 

*दिनांक 25-04-2023 को एस0टी0एफ0, उ0प्र0 को पेटेण्ट दवा कम्पनियों के नाम की नकली/अवैध दवाएं बनवाकर तथा वाराणसी में अवैध तरीके से भण्डारण कर, उत्तर प्रदेश सहित उड़ीसा आदि राज्यों में अवैध तरीके सप्लाई करने वाले अन्तर्राज्यीय गैंग के 05 सदस्यों को गिरफ्तार कर विभिन्न कम्पनियों के नाम की नकली दवायें लगभग 35 पेटी (अनुमानित मूल्य 25 लाख रूपये लगभग) बरामद करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई।

 

*गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरणः*

———————————-

1- चन्द्रशेखर सिंह पुत्र लल्लन सिंह निवासी-के-54/90ए दारानगर थाना जैतपुरा, वाराणसी।

2- रितेश जायसवाल पुत्र रामचन्द्र जायसवाल निवासी-ए 16/6 गंगानगर कॉलोनी थाना

आदमपुर हाल पता-एस0ए0 16/19 के0वी0यू0 टडिया चकबीही थाना सारनाथ, वाराणसी।

3- शुभम जायसवाल पुत्र दीनानाथ जायसवाल निवासी-बी 7/184 केदारघाट सोनारपुरा थाना भेलूपुर, वाराणसी।

4- अभिषेक कुमार सिंह पुत्र जयनरायन सिंह निवासी- सीके 65/193बी बडी पियरी थाना चेतगंज जनपद वाराणसी।

5- गौरव शर्मा पुत्र प्रभाकर शर्मा निवासी-ए 1/7 पाटन दरवाजा थाना आदमपुर, वाराणसी।

 

*बरामदगीः*

————–

1. विभिन्न कम्पनियों की दवाएं लगभग 35 पेटी (अनुमानित मूल्य 25लाख रूपये लगभग) 1-MIFEGST KIT, 2-MIFTY KIT, 3-DECA DURABOLIN INJECTION,4-UNWANTED KIT, 5-ELTOCIN-DS, 6-MONTAIR LC,7-PARACETAMOL PAEDIATRIC ORL SUSPENSION

2. कूटरचित बिल एवं अन्य दस्तावेज।

3. 05 अदद मोबाइल फोन।

4. 01 अदद लैपटॉप।

 

*गिरफ्तारी का स्थान/दिनांकः*

——————————

केदारघाट थाना भेलूपुर व टडिया चकबीही थाना सारनाथ जनपद वाराणसी। दिनांक 25-04-2023

 

विगत काफी समय से सूचना प्राप्त हो रही थी कि अन्तर्प्रान्तीय गिरोहों द्वारा उत्तर प्रदेष के विभिन्न जनपदों में नकली/अवैध दवाओं का अवैध व्यापार किया जा रहा है। इस सम्बन्ध में दिनांक 02-03-2023 को अभियुक्त अशोक कुमार को गिरफ्तार करते हुये उसके यहॉं से 300 पेटी नकली दवायें (अनुमानित मूल्य लगभग 7.5 करोड रूपये) बरामद की गयी थी। नकली/अवैध दवाओं के अवैध व्यापार के संबंध में अभिसूचना संकलन की अग्रिम कार्यवाही की जा रही थी कि इसी दौरान ज्ञात हुआ कि वाराणसी से ओडिसा राज्य के जनपद बारगढ एवं जसूरगुडा में भी नकली दवाओं की सप्लाई किया गया जिसके संबंध में ओडिसा के थाना जनपद बरगढ के थाना बरगढ पर मु0अ0सं0 44/23 धारा 274/275/276/420/467/468/471/120बी/336/483/486/34 आई0पी0सी0 व 27 ड्रग्स एण्ट कास्मेटिक एक्ट व जनपद जारसूगुडा के थाना जारसूगुडा पर मु0अ0सं0 52/23 धारा धारा 274/275/276/420/468/465/469/471/120बी/483/486/489आई0पी0सी0 व 103/104/ 107 ट्रेड मार्क एक्ट व 63 कॉपराइट एक्ट, पंजीकृत हुआ है। यह भी ज्ञात हुआ कि इस मुकदमें से संबंधित अभियुक्त जनपद वाराणसी के रहने वाले हैं तथा वाराणसी से नकली/अवैध दवाओं का व्यापार चलाते हैं। तत्पश्चात् इस संबंध में ओडिसा पुलिस व ओडिसा औषधि विभाग द्वारा उक्त मुकदमें में वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तार हेतु एस0टी0एफ0 से सम्पर्क किया गया।

उक्त के संबंध में निरीक्षक अमित श्रीवास्तव एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई वाराणसी के नेतृत्व में टीम गठित की गयी। एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई वाराणसी द्वारा अपने साथ ओडिसा पुलिस के उप निरीक्षक/विवेचक देबानन्द मलिक व असिस्टेंट ड्रग्स कण्ट्रोलर ओडिसा डा0 सुदर्शन विश्वाल तथा वाराणसी के ड्रग्स इन्सपेक्टर ए0के0 बंसल की टीम को साथ लेकर अभिसूचना संकलन की कार्यवाही प्रारम्भ की गयी। अभिसूचना संकलन के दौरान आज दिनाक 25-04-2023 को विश्वस्त सूत्र के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई कि ओडिसा में नकली दवाओं से संबंधित मुकदमें में वांछित अभियुक्त थाना भेलूपुर क्षेत्रान्तर्गत केदारघाट सोनारपुरा में शुभम जायसवाल व अभिषेक कुमार सिंह मौजूद हैं, यदि शीघ्रता की जाये तो पकडा जा सकता है। उक्त सूचना पर तत्काल विश्वस्त सूत्र द्वारा बनाये गये स्थान पर पहुॅंच कर अभियुक्त शुभम जायसवाल व अभिषेक कुमार सिंह उपरोक्त को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में उक्त दोनों अभियुक्तगण ने अपने गैंग के अन्य सदस्यों के थाना सारनाथ क्षेत्रान्तर्गत टडिया चकबीही में रितेश जायसवाल के नकली/अवैध दवा के गोदाम पर मौजूद होने की बात बताया। इस पर तत्काल गिरफ्तार अभियुक्तगण को साथ लेकर उनके बताये गये स्थान पर पहुॅंच कर अभियुक्त चन्द्रशेखर सिंह, रितेश जायसवाल व गौरव शर्मा को 35 पेटी नकली दवाओं के साथ गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ, अभिसूचना संकलन एवं विवेचना से ज्ञात हुआ कि अभियुक्त अभिषेक कुमार सिंह व शुभम जायसवाल ने अपना-अपना दवा सप्लाई का लाइसेंस बना कर विभिन्न कम्पनियों की दवाओं की सप्लाई करने का काम करते थे। उक्त दवाओं के सप्लाई के काम के दौरान चन्द्रशेखर सिंह, रितेश जायसवाल व गौरव शर्मा से इनका सम्पर्क हो गया। चन्द्रशेखर सिंह, रितेश जायसवाल व गौरव शर्मा की जान-पहचान जनपद वाराणसी में नकली/अवैध दवाओं का व्यापार करने वालों से पूर्व से थी, जिनमें से एक गैंग सरगना अशोक कुमार को एस0टी0एफ0 द्वारा दिनांक 02-03-2023 को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। वाराणसी में सक्रिय गैंग उक्त दवाओं को हिमाचल प्रदेश व उत्तराखण्ड से मंगाकर इन्हें उपलब्ध कराता था तथा अभिषेक सिंह व शुभम जायसवाल के लाइसेंसी फर्म के माध्यम उक्त नकली/अवैध दवाओं को विभिन्न स्थानों पर भेज देते थे। इन लोगों द्वारा नकली/अवैध दवा को ओडिसा में अशोक मेडिकल हॉल बरगढ तथा अमित मेडिकल एजेन्सी जरसूगुडा को सप्लाई किया था। इस संबंध में ओडिसा औषधि विभाग द्वारा उक्त अभियोग पंजीकृत कराया गया। उक्त अभियोग पंजीकृत होने की जानकारी होने पर शुभम जायसवाल व अभिषेक सिंह ने अपने दवा सप्लाई के लाइसेंस को निरस्त करवा लिया और चोरी छुपे नकली/अवैध दवा का काम चन्द्रशेखर सिंह, रितेश जायसवाल व गौरव शर्मा के माध्यम से करने लगे।

उक्त सन्दर्भ में गिरफ्तार अभियुक्तों को थाना सारनाथ जनपद वाराणसी में दाखिल करते हुये ओडिया में पंजीकृत मु0अ0सं0 44/23 धारा 274/275/276/420/467/ 468/471/120बी/ 336/483/486/34 आई0पी0सी0 व 27 ड्रग्स एण्ट कास्मेटिक एक्ट व मु0अ0सं0 52/23 धारा धारा 274/275/276/420/468/465/469/471/120बी/483/486/489आई0पी0सी0 व 103/104/ 107 ट्रेड मार्क एक्ट व 63 कॉपराइट एक्ट में अग्रिम विधिक/विवेचनात्मक कार्यवाही ओडिसा पुलिस द्वारा की जा रही है।

उक्त बरामद 1-MIFEGST KIT, 2-MIFTY KIT, 3-DECA DURABOLIN INJECTION,4-UNWANTED KIT, 5-ELTOCIN-DS, 6-MONTAIR LC,7-PARACETAMOL PAEDIATRIC ORL SUSPENSION आदि दवाओं के संबंध में अग्रिम विधिक कार्यवाही वाराणसी औषधि विभाग एवं ओडिसा औषधि विभाग द्वारा की जा रही है।