December 5, 2021

*छांव नहीं सोने को, आग सब कुछ जला कर राख कर दिया

Spread the love

*छांव नहीं सोने को, आग सब कुछ जला कर राख कर दिया

के.एम. बग्गा
************************
विंध्याचल स्थानीय थाना अंतर्गत तिवारीपुर बस्ती में बुधवार 16 जनवरी को शाम 7:00 बजे रोशन देवी अपने इलाज के लिए पास के बाजार में चिकित्सक के पास गई थी और पिता जोहन 35 वर्ष पुत्र स्व.शम्भू नाथ बच्चों का पेट पालने के लिए प्रयागराज दूसरे का नाव चलाने के लिए गया हुआ था। इस दौरान घर पर उसके दो पुत्र और एक पुत्री ठंड से बचने के लिए आग जला कर ताप रहे थे कि अचानक आग से एक चिंगारी छिटक कर ऊपर छज्जा पर चला गया। ऊपर सरपत की छावनी होने के कारण आग बहुत तेज से पकड़ लिया और गांव वालों को बुझाते-बुझाते तब तक पूरा घर जलकर खाक हो गया और उसमें रखा सारा गृहस्थी का सामान पहने,ओढ़ने तथा खाने-पीने का सामान भी आग में जलकर खाक हो गया। आग में सभी सामान जलने की वजह से वह लोग आज खुले आसमान के नीचे प्लास्टिक की छावनी लगाकर दूसरे के जमीन में रात बिता रहे है।
*इस कड़कड़ाती ठंड में बच्चों को पहनने के लिए ढंग के कपड़े नहीं और पिता को उनका पेट भरने के लिए भी दिन भर जद्दोजहद करना पड़ता है तब जाकर उन्हें दो वक्त की रोटी नशीब होती है।*
*पापी पेट ने पिता को दर-दर की ठोकरे खाने के लिए छोड़ दिया है तो वही इस कड़कड़ाती ठंड ने मानो उन पर कहर ही बरपाने को आमादा है।*
*इस भयंकर ठंड में जहां उन्हें खुले आसमान के नीचे सोना पड़ रहा है तो वही इस बरसात में उन्हें दाने-दाने को लाले पड़े है।*