January 25, 2021

PFI का महासचिव रऊफ शरीफ त्रिवेंद्रम एयरपोर्ट से गिरफ्तार, यूपी लाने के लिए STF रवाना

Spread the love

हाथरस केस: PFI का महासचिव रऊफ शरीफ त्रिवेंद्रम एयरपोर्ट से गिरफ्तार, यूपी लाने के लिए STF रवाना

लखनऊ. हाथरस कांड (Hathras Case) की आड़ में दंगा भड़काने की साजिश रचने के आरोप में मथुरा से गिरफ्तार चार अभियुक्तों के मददगार और पीएफआई (PFI) का महासचिव रऊफ शरीफ़ (Rauf Sharif) को केरल (Kerala) के तिरुअनंतपुरम एयरपोर्ट (Trivendram Airport) से हिरासत में लिया गया है. वह ओमान भागने की फ़िराक में था. रऊफ शरीफ़ से पूछताछ और उसे यूपी लाने के लिए एसटीएफ की एक टीम केरल के लिए रवाना हो गई है. गौरतलब है कि ईडी और यूपी पुलिस ने शरीफ़ के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया था. पीएफआई को विदेशी फंडिंग की जांच ईडी कर रही है.

हाथरस की घटना के बाद नाम आया था सामने

गौरतलब है कि हाथरस की घटना के बाद जातीय हिंसा फैलाने की साज़िश में पीएफआई का नाम आया सामने आया था. पुलिस ने पीएफआई से जुड़े चार युवकों को मथुरा से गिरफ्तार किया था. मथुरा से गिरफ्तार केरल के युवक कप्पन का शरीफ़ से कनेक्शन सामने आ रहा है. जिसके बाद यूपी पुलिस को उसकी तलाश थी.

यूपी में दंगा भड़काने की रची थी साजिश

प्रदेश के एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि हाथरस कांड के बाद प्रदेश में दंगा भड़काने की साजिश में शामिल चार अभियुक्तों सिद्दीक कप्पन निवासी मलप्पुरम (केरल), अतीकुर्रहमान निवासी मुजफ्फरनगर, आलम निवासी रामपुर और मसूद निवासी बहराइच को पांच अक्टूबर को मथुरा के मांट थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया था. पापुलर फ्रंट आफ इंडिया (पीएफआई) से जुड़े ये अभियुक्त दिल्ली से हाथरस जा रहे थे. मुकदमे की विवेचना के दौरान पता चला कि पीएफआई से जुड़े अभियुक्तों अतीकुर्रहमान और मसूद को दंगा भड़काने की साजिश में आर्थिक मदद और संसाधन उपलब्ध कराने में केरल निवासी रऊफ शरीफ की भूमिका प्रकाश में आई थी.

एडीजी ने बताया कि ख़ुफ़िया इनपुट के मुताबिक वह विदेश भागने की फ़िराक में था. जिसके बाद मथुरा में दर्ज मुक़दमे ने उसे निरुद्ध कर उसके खिलाफ 18 नवंबर 2020 को लुकआउट नोटिस जारी की गई थी. अब एसटीएफ उससे पूछताछ कर साजिशा का पर्दाफाश करेगी.