October 22, 2021

ISROआज लांच करेगा जीसैट-7ए उपग्रह, भारतीय वायुसेना की उड़ान होगी और भी बेहतर ।

Spread the love

ब्यूरो डेस्क : भारतीय अंतरिक्ष अनुसन्धान (इसरो) आज जीसैट-7ए नामक संचार उपग्रह को लांच करने जा रहा है। यह उपग्रह आज शाम में लगभग 4 बजकर 10 मिनट पर जीएसएलवी-एफ11 रॉकेट की मदद से लांच की जाएगी। यह इसरो का 39वां संचार उपग्रह होगा। इस उपग्रह से भारतीय वायुसेना को काफी मजबूती मिलेगी।जानकारी के लिए बता दें कि इसरो द्वारा बनाया गया जीसैट-7ए उपग्रह को आठ साल के मिशन के लिए बनाया गया है। जिसकी लागत 500-800 करोड़ रुपये है। साथ ही इसमें चार सोलर पैनल लगाए गए है। जिसकी सहायता से 3.3 किलोवाट बिजली पैदा की जा सकेगी। इस उपग्रह का वजन 2,250 किलोग्राम है। इसरो ने बताया कि जीएसएलवी-एफ11 इससे पहले भी वो कई बार उड़ान भर चूका और इस बार यह इसकी तेरहवी उड़ान होगी। लेकिन इस बार यह 7वीं बार स्वदेशी क्रायोनिक इंजन के साथ लांच किया जा रहा है। यह कू-बैंड में संचार की सुविधा उपलब्ध करवाएगा।इसके अलावा यह भारतीय वायुसेना को बेहतर संचार सेवा देने में काफी मददगार साबित होगा। साथ ही वायुसेना के एयरबेस को इंटरलिंक करने के अलावा ड्रोन ऑपरेशंस में भी इससे मदद मिलेगी। आपको बता दें कि इसरो ने इससे पहले 29 सितंबर 2013 में जीसैट-7 सैटेलाइट को लांच किया था। जिसका नाम रुकमिणी रखा गया था। यह नेवी के युद्धक जहाजों, पनडुब्बियों और वायुयानों को संचार की सुविधाएं प्रदान करने में काफी सफल हुई है । इसकी सफलता को देखते हुए इसरो ने एक बार फिर से जीसैट-7ए को लांच किया है। और आने वाले समय में जीसैट-7 सी की लांचिंग की भी संभावनाएं जताई जा रही है।

www.mvdindianews.in