February 28, 2024

हत्या करने के बाद कपड़े में लाश लपेट कर रेल लाइन पर फेकी-

Spread the love

*हत्या करने के बाद कपड़े में लाश लपेट कर रेल लाइन पर फेकी*

 

*कौशाम्बी* अधेड़ की हत्या करने के बाद कपड़े में लाश लपेट कर लेकर आए लोगों ने रेल लाइन पर लाश फेंक दिया है लाश फेंकने के बाद हमलावर घटनास्थल से फरार हो गए हैं और दुर्घटना की साजिश रची जाने लगी है घटना कोखराज थाना क्षेत्र के भरवारी की है सूचना पाकर मौके पर परिजन और पुलिस पहुंची है पुलिस ने अधेड़ के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है भरवारी रेलवे स्टेशन के अप लाइन के खंभा नंबर 861/11-13 पर 25 जनवरी को चददर में लिपटी एक अधेड़ की लाश रेल लाइन के बाहर मिली है मृतक अधेड़ की पहचान संगम लाल सरोज उम्र 50 वर्ष पुत्र रूपी प्रसाद निवासी वार्ड नंबर 4 मुखर्जी नगर भरवारी थाना कोखराज जिला कौशांबी के रूप में हुई है रेल लाइन घटनास्थल पर दुर्घटना जैसे निशान नहीं है जिससे ट्रेन हादसे की संभावना से ग्रामीण इंकार कर रहे हैं|

 

गौरतलब है कि अधेड़ की हत्या कर लाश रेल लाइन पर फेंकने वाले आरोपियों ने तमाम अहम साक्ष्य छोड़ दिया है जो हत्या कर लाश फेंके जाने की गवाही दे रहे हैं और हत्यारों तक पुलिस को पहुंचाने में मदद करेंगे जिस ऊनी कपड़े चददर में अधेड़ की लाश लपेट कर लोग लाए थे वह चद्दर मृतक के शव से लिपटा हुआ है इतना ही नहीं रेल हादसा दिखाया जा रहा है लेकिन मृतक के दोनों पैरों में चप्पल पहनी हुई है अब सवाल उठता है कि ट्रेन हादसा होगा अधेड़ को ट्रेन की टक्कर लगेगी तो स्वाभाविक है कि ट्रेन की टक्कर लगने के बाद व्यक्ति तड़पेगा दूर तक ब्यक्ति घिसटेगा तो व्यक्ति के पैर में पहनी हुई चप्पल कैसे दोनों पैर में सही सलामत रह जाएगी ग्रामीणों का कहना है कि ट्रेन की टक्कर लगने के बाद मृतक के शरीर से चप्पल छूट नहीं जाएगा|

 

जिस अधेड़ की मौत को ट्रेन हादसा बताने का भरसक प्रयास हो रहा है वहां एक और अहम साक्ष्य छूट गया है घटनास्थल पर ट्रेन हादसे के बाद दुर्घटना स्थल पर दुर्घटना जैसे निशान नहीं हैं जिस अधेड़ की मौत को ट्रेन हादसा बताने का प्रयास शुरू हो गया है सवाल उठता है कि ट्रेन हादसे के बाद मृतक के शरीर के कपड़े भी नहीं फटे हैं आखिर कैसे ट्रेन का टक्कर लग गया कि कपड़े के चिथड़े नहीं उड़ गए ट्रेन हादसे के बाद तो यहां तो शरीर के चिथड़े उड़ जाते हैं इलाके के लोगों का कहना है कि अधेड़ की कहीं हत्या करने के बाद हत्या को छिपाने के उद्देश्य से लाश रेल लाइन पर ठिकाने लगाई गई है जिससे लगता है कि हत्यारों ने योजनाबद्ध तरीके से हत्या की है और वह बड़े शातिर दिमाग के हैं रेल लाइन पर मिली अधेड़ की लाश के मामले में यदि पुलिस ने सूक्ष्म जांच की तो जल्द ही हत्यारों के गिरेहबान तक पुलिस के हाथ होंगे|