July 6, 2022

स्वास्थ्य कर्मी के अड़ियल रवैये से प्रसव के बाद रक्तस्राव से महिला की मौत-

Spread the love

स्वास्थ्य कर्मी के अड़ियल रवैये से प्रसव के बाद रक्तस्राव से महिला की मौतl

कौशांबी
कौशांबी में प्रसव के बाद रक्तस्राव न रुकने के बाद मिन्नतों के बाद भी नही पसीजी स्वास्थ्य कर्मी की वजह से महिला की मौत का मामला सामने आया है।
मिली जानकारी के अनुसार मंझनपुर मुख्‍यालय स्थित नवीन प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में सोमवार की रात प्रसव के बाद महिला का रक्‍तस्राव नहीं रुका जिससे महिला के परिवार के लोग महिला स्‍वास्‍थ्‍य कर्मी से मिन्‍नतें करते रहे लेकिन उसे रेफर नहीं किया गया। अधिक रक्‍तस्राव से महिला की मौत हो गई। इसे लेकर स्‍वजनों में आक्रोश व्‍याप्‍त है। मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के गौसपुर टिकरी निवासी धीरेंद्र राजपूत की पत्नी अनीता देवी गर्भवती थी। सोमवार की रात करीब 11 उसे प्रसव दर्द हुआ। धीरेंद्र की मानें तो एंबुलेंस को मोबाइल फोन पर काल करके बुलाया लेकिन काफी देर तक एंबेलेंस नहीं पहुंची। इसी वक्त धीरेंद्र ने गांव की एक आशा से संपर्क किया। फिर आनन-फानन में अनीता देवी को टेवां स्थित नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। उसने वहां एक पुत्र को जन्म दिया। प्रसव के बाद अनीता देवी का रक्‍तस्राव नहीं रुका। इससे परिवार के लोग परेशान हो गए। जब रक्‍तस्राव नहीं बंद हुआ तो महिला को अन्‍य अस्‍पताल में रेफर करने के लिए स्‍वजनों ने मिन्नत की। आरोप है कि अस्‍पताल की महिला स्‍वास्‍थ्‍य कर्मी ने मिन्‍नतों के बाद भी रेफर नहीं किया। कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। लोगों का कहना है कि टेंवा स्थित नवीन प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में डाक्टर नहीं नजर आते। यहां दिन में तो एक फार्मासिस्ट और एक वार्ड ब्‍वाय रहते हैं लेकिन रात में नर्स के सहारे स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था रहती है। वही रात में वही प्रसव करती है। आरोप है कि सुई, दवा बाहर से मंगाया जाता है। इससे मरीजों के तीमारदारों को परेशानी होती है। इसकी शिकायत कई बार विभाग के अधिकारियों से की गई लेकिन व्‍यवस्‍था में सुधार नहीं नजर आ रहा है।