November 26, 2020

सी.एम.एस. द्वारा आयोजित ‘विश्व के मुख्य न्यायाधीशों के 21वें अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन’ का दूसरा दिन- अजय मिश्रा

Spread the love

सी.एम.एस. द्वारा आयोजित ‘विश्व के मुख्य न्यायाधीशों के 21वें अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन’ का दूसरा दिन

राज्यसभा सदस्य श्री सुधांशु त्रिवेदी, राजस्थान के राज्यपाल श्री कलराज मिश्र एवं विधानसभा अध्यक्ष, उ.प्र.

श्री हृदय नारायण दीक्षित की गरिमामय आॅनलाइन उपस्थिति से गुलजार हुआ सम्मेलन

न्यायविद्ों व कानूनविद्ों द्वारा सी.एम.एस. छात्रों की

‘सुरक्षित भविष्य’ की अपील का पुरजोर समर्थन

लखनऊ, 7 नवम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल द्वारा आयोजित ‘विश्व के मुख्य न्यायाधीशों के 21वें अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन’ का दूसरा दिन आज विधानसभा अध्यक्ष, उ.प्र. श्री हृदय नारायण दीक्षित की गरिमामय आॅनलाइन उपस्थिति से गुलजार रहा तो वहीं दूसरी ओर विभिन्न देशों के न्यायविद्ों, कानूनविद्ों व अन्य गणमान्य हस्तियों ने अपने सारगर्भित संबोधनों से एक नवीन विश्व व्यवस्था की सुखमय तस्वीर प्रस्तुत की। 63 देशों के इन प्रतिभागी न्यायविदों व कानूनविद्ों ने आज एक स्वर से सी.एम.एस. छात्रों की ‘भावी पीढ़ी के सुरक्षित भविष्य’ की अपील का पुरजोर समर्थन किया। विदित हो कि सिटी मोन्टेसरी स्कूल के तत्वावधान में ‘विश्व के मुख्य न्यायाधीशों के 21वें अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन’ का आयोजन 6 से 9 नवम्बर तक आॅनलाइन किया जा रहा है, जिसमें विभिन्न देशों के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, संसद के अध्यक्ष, न्यायमंत्री, संसद सदस्य, इण्टरनेशनल कोर्ट के न्यायाधीश एवं विश्व प्रसिद्ध शान्ति संगठनों के प्रमुख समेत 63 देशों के मुख्य न्यायाधीश, न्यायाधीश व कानूनविद् आॅनलाइन अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं।

आज सायंकालीन सत्र का उद्घाटन प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष श्री हृदय नारायण दीक्षित ने किया। श्री दीक्षित ने अपने संबोधन में कहा कि ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ की महान संस्कृृति एवं भारतीय संविधान के अनुच्छेद 51 की भावना को सारे विश्व में पहुँचाने की आज जरूरत है और यही समय की मांग भी है।