May 28, 2022

संदिग्ध परिस्थितियों में जिला पंचायत सदस्य पति लापता-

Spread the love

*संदिग्ध परिस्थितियों में जिला पंचायत सदस्य पति लापता*

 

*जिला पंचायत सदस्य का लग्जरी वाहन एक ढाबे के बाहर पुलिस ने किया बरामद*

 

*कोखराज कौशाम्बी* सैनी कोतवाली क्षेत्र के गुलामीपुर निवासी जिला पंचायत सदस्य पूनम मौर्या के पति राजीव मौर्या बुधवार की रात्रि 2:00 बजे संदिग्ध हालात में गायब हो गए है कोखराज थाना क्षेत्र के राष्ट्रीय राजमार्ग कोखराज गांव के मोड़ के पास स्थित प्रयागराज ढाबा के बाहर लावारिस हालत में उनकी गाड़ी खड़ी मिली है परिजनों से संपर्क टूट जाने के बाद परिवार में बेचैनी बढ़ गई और परिजनों ने मामले की सूचना पुलिस अधिकारियों को दी है जिला पंचायत सदस्य के पति के अचानक लापता हो जाने की जानकारी मिलते ही पुलिस उसकी खोजबीन में सक्रिय हो गई है घटना की जानकारी मिलने पर कोखराज थाना पुलिस और सिराथू विधायक समेत सैकड़ो लोग ढाबा पर पहुँचे है ढाबे में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज के आधार पर रात 2:00 बजे एक वाहन ढाबे के बाहर आकर खड़ा हुआ है और उसके बाद वाहन से उतरा व्यक्ति जनरथ बस में सवार होकर ढाबे से चला गया है घटनास्थल के साक्ष्य अपहरण की घटना से इंकार कर रहे हैं जबकि परिजन राजीव मौर्या के अपहरण की बात कर रहे हैं आखिर किस परिस्थितियों में राजीव मौर्या गायब हुए हैं यह पुलिस की बड़ी जांच का विषय है राजीव मौर्या के संदिग्ध परिस्थितियों में गायब होने के मामले की जांच में कोखराज पुलिस और एसओजी जुटी है और सभी संभावित आधार पर पुलिस जांच पड़ताल कर रही है बताते चलें कि जिला पंचायत सदस्य पति समर्थकों के साथ हमेशा चलते थे और समर्थकों के साथ चलने वाले जिला पंचायत सदस्य के पति का रहस्यमय तरीके से गायब हो जाना बड़ी चर्चा का विषय है जिस समय घटना बताई जा रही है उनके समर्थक उनके साथ मौजूद नहीं थे

 

*पहले भी कई जिला पंचायत सदस्यों के गायब होने का मामला चर्चा में रहा*

 

*कौशाम्बी* जिला पंचायत सदस्यों का अचानक रहस्यमय तरीके से गायब होना फिर नाटकीय ढंग से वापस आ जाना पुराना मामला हो चुका है इसके पहले भी कई जिला पंचायत सदस्यों के परिजनों ने अपहरण का आरोप लगाकर पुलिस को तहरीर दी थी लेकिन बाद में जब जिला पंचायत सदस्य को पुलिस ने खोज निकाला तो गायब जिला पंचायत सदस्यों ने अपने ही परिजनों को झूठा करार दिया और पिकनिक मनाने की बात कह कर अपहरण के अपराध पर विराम लगा दिया जाता रहा है

 

गुरुवार की भोर से फिर जिला पंचायत सदस्य पूनम मौर्या के पति राजीव मौर्या के अचानक गायब होने की अफवाहें तेजी से फैल रही है इसके पीछे सच्चाई क्या है यह तो पुलिस की जांच का विषय है लेकिन कोखराज थाना क्षेत्र के कोखराज मोड़ के पास स्थित प्रयागराज होटल के बाहर राजीव मौर्या की कार खड़ी है जब पुलिस ने जांच की दिशा आगे बढ़ाई और सीसीटीवी के फुटेज को खंगाला तो घटनास्थल से किसी के अपहरण की बात प्रकाश में नहीं आई है फिर राजीव मौर्या वहां से कैसे गायब हो गए हैं राजीव मौर्या के ड्राइवर को पुलिस ने खोज निकाला है उसका कहना है कि गाड़ी और राजीव मौर्या को वह होटल के पास छोड़कर चला गया है उसके बाद क्या घटनाएं हुई हैं इस बारे में राजीव मौर्या का चालक भी कुछ नहीं उजागर कर पा रहा है इसके पहले भी कई जिला पंचायत सदस्य और क्षेत्र पंचायत सदस्यों के परिजनों ने कई बार अपहरण किए जाने का आरोप लगा कर जिले में सनसनी फैला दी थी पूर्व के समय में भी जिला पंचायत सदस्य और क्षेत्र पंचायत सदस्यों के अपहरण का आरोप लगने के बाद पुलिस के हाथ पांव फूल जाते थे और तमाम व्यवस्थाओं को छोड़कर अपहरण की घटनाओं के खुलासे में पुलिस परेशान हो जाती है लेकिन पूर्व के मामलों में देखा गया है कि जिन व्यक्तियों के अपहरण की बात उनके परिजनों द्वारा की जाती है बाद में वह सकुशल हँसते हँसते वापस लौट आते हैं और बड़े गर्व के साथ कहते हैं कि वह पिकनिक मनाने गए थे यह उनका मौलिक अधिकार है उनका किसी ने अपहरण नहीं किया है जिला पंचायत सदस्य से लेकर क्षेत्र पंचायत सदस्य अपने परिजनों को ही झूठा करार देते हैं परिजनों द्वारा दी गई तहरीर को भी जिला पंचायत सदस्य और क्षेत्र पंचायत सदस्य मनगढ़ंत बताकर इस अपराध को खारिज कर देते हैं अब राजीब मौर्या के साथ क्या घटनाएं हुई हैं यह पुलिसिया जांच का बड़ा विषय है लेकिन घटनास्थल पर अपहरण किए जाने का कोई साक्ष्य ना मिलने से राजीव मौर्या के गायब होने के पीछे भी बड़ी साजिश की बू आ रही हैl