May 29, 2022

शंघाई में बेकाबू काेरोना, सरकार का आदेश- साथ में साेने, गले मिलने और Kiss करने पर पाबंदी-

Spread the love

शंघाई में बेकाबू काेरोना, सरकार का आदेश- साथ में साेने, गले मिलने और Kiss करने पर पाबंदी

 

 

 

कोरोना (Corona Virus) चीन (China) का पीछा नहीं छोड़ रहा है. एक बार फिर यहां कोरोना लोगों पर जमकर कहर बरपा रहा है. हजारों की संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं. कोरोना की नई लहर का सबसे ज्यादा असर शंघाई (Shanghai) में दिखाई दे रहा है. यहां फिर से लॉकडाउन लगा दिया गया है. प्रशासन कोरोना जांच पर अधिक जोर दे रहा है. साथ ही जनता से महामारी (Corona Epidemic) के नियमों का पालन करने की अपील भी कर रही है. इससे जुड़े कई वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं.

 

स्थानीय प्रशासन शंघाई में रहने वालों को हर संभव मदद देने की कोशिश कर रही है, मगर लोगों को लगता है कि यह मदद काफी नहीं है. लोगों ने कई ऐसे वीडियो पोस्ट किए हैं, जहां वे अपने-अपने घरों की बालकनी पर गाना गाकर विरोध दर्ज करा रहे हैं, उसी वक्त एक ड्रोन से घोषणा की जाती है कि वे ऐसा न करें, अपने घरों की खिड़कियों को बंद रखें. साथ ही यह भी घोषणा होती है कि लोग अपनी स्वतंत्रता की इच्छा को नियंत्रित रखे और गाना न गाएं.

 

इसी तरह एक दूसरे वीडियो में कुछ स्वास्थ्यकर्मी शंघाई की सड़कों पर दिलचस्प घोषणाएं करते हुए दिखाई दते हैं. इस वीडियो में स्वास्थ्यकर्मी लोगों से कहता है, ‘आज रात से कपल्स को अलग सोना चाहिए, किस नहीं करना चाहिए, उन्हें एक दूसरे को गले लगाने से भी बचना चाहिए. इसके अलावा दोनों को अलग अलग खाना चाहिए.’

 

करीब एक हफ्ते पहले सोशल मीडिया पर एक और वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक चार पैरों वाला रोबोट शंघाई की सड़कों पर गश्त लगाते हुए लोगों से लॉकडाउन के नियमों का पालन करने का अपील कर रहा था. गौरतलब है कि प्रतिबंधों के कारण भोजन और आवश्यक वस्तुओं के वितरण को लेकर लोगों में असंतोष बढ़ रहा है.

 

वहीं नगर प्रशासन ने समस्या को स्वीकार करते हुए स्थिति में सुधार करने का वादा किया है. शंघाई के उप महापौर चेन टोंग ने गुरुवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘शंघाई में चावल और मांस जैसे स्टेपल का पर्याप्त भंडार है, लेकिन महामारी नियंत्रण उपायों के कारण वितरण समस्याएं पैदा रही हैं. वैसे हमारी कोशिश है कि शहर में कुछ थोक बाजारों और खाद्य भंडारों को फिर से खोला जाए.’