November 30, 2021

विधायक प्रदीप यादव की पहल पर प्रशासन को किसानों के समक्ष झुकना पड़ा..

Spread the love

जमनी पहाड़पुर सिंहवाहिनी मंदिर के समीप तीन दिनों से क्षेत्र के किसानों का एक बड़ा समूह सिंचाई के साधनों की मांगों को लेकर आमरण अमशन पर बैठे हुए थे ,किसानों का कहना था कि कझिया से अत्यधिक बालू के उत्खनन के कारण जलस्तर नीचे चला गया है ,किसानों की मांग थी कि प्रशासन तुरंत बालू घाट के टेंडर को निरस्त करें और भविष्य मे भी इन बालू घाटों की बंदोबस्ती उत्खनन के लिए नही होनी चाहिए ,एवं क्षेत्र के किसानों की सिचाई की व्यवस्था के लिए चेक डेम का निर्माण होना चाहिए .
विधायक प्रदीप यादव ने किसानों की इन मांगों को जायज ठहराया और कहा कि पूर्व मे भी हमलोगों ने बालू घाटों की बंदोबस्ती का विरोध किया था लेकिन सरकार ने हमलोगों की नही सुनी और आज यह परिणाम है कि क्षेत्र के किसान सिंचाई के लिए त्राहिमाम है ।
विधायक प्रदीप यादव ने अनुमंडल पदाधिकारी गोड्डा से किसानों के साथ वार्ता करने के लिए बात की ,
प्रशासन ने किसानों की मांगों को माना एवं लिखित मे दोनो के बीच समझौता हुआ ,
प्रशासन ने कहा कि जल्द ही यहाँ पर चेकडैम निर्माण कार्य प्रारंभ करा दिया जाएगा । किसानों को
जूस पिलाकर अनुमंडल पदाधिकारी नमन प्रियेश लकड़ा ,और प्रदीप यादव ने अनशन तुड़वाया,साथ ही सरकार को 15 दिन का अल्टीमेटम दिया गया कि अगर 15 दिन में कार्य शुरू नही होता है तो प्रदीप यादव खुद किसानों
को साथ लेकर आमरण अनशन पर बैठेंगे !