October 20, 2021

वाराणसी में धर्म संसद का आखिरी दिन।

Spread the love

वाराणसी में धर्म संसद का आखिरी दिन

जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद का बयान

राम को मनुष्य मानकर लोग पुतला बना रहे है लेकिन भारत के लोग भगवान का अवतार मानते है मूर्ति मन्दिर में रखा जाता है

तीन दिन के धर्म संसद में देश की दिशा और दसा पर मंथन किया

राम मंदिर धर्म शास्त्र के अनुसार बनाया जाएगा , मंदिर में भगवान की आराध्य रूप से प्राण प्रतिष्ठा होगी

हम सबको साथ लेकर मंदिर बनाएंगे और कोर्ट से हम अनुरोध करेंगे कि जल्द इसका निर्णय निकाले

सरकार केवल राजनीतिक लाभ के लिए मुद्दे को उठा रही है

अयोध्या में सभी इकट्ठा हुए लेकिन किसी ने तारीख नही बताया , सभी लोग तारीख पूछ रहे थे , उन्होंने क्यो नही बताया

इस सरकार में साधु महात्माओं की संपत्ति को हड़पने का साज़िश हो रहा है

कुंभ के दौरान सभी मुद्दे को सामने रखा जाएगा

चुनाव आ गए है इस लिए सरकार अन्य मुद्दों को दबाने के लिए मंदिर का मुद्दा उठा रही है

सभी सन्त महात्मा हमारे साथ है , अयोध्या से किसी से पूछे तो वह राम को भगवान बताएंगे

यह लोग कहते है कि हमारे मैनोफेसटो राम मंदिर है तो उनसे लोग तारीख पूछ रहे है

चुनाव पर राम मन्दिर के मुद्दे को लेकर पर प्रभाव पर स्वरूपानन्द का बयान

वह इससे खत्म हो गया ( बीजेपी खत्म हो गया ) , क्योकि इन्होंने तारीख नही बताया

शिव सेना भी तारीख़ पूछ रही थी लेकिन इन्होंने नही बताया