January 21, 2022

वाराणसी:अलविदा-2018- DLW ने दुनिया में लहराया परचम, जानें ऐसा क्या कर दिया कि बन गया विश्व रिकार्ड

Spread the love

वाराणसी. डीजल रेल इंजन कारखाना के लिए वर्ष 2018, ऐतिहासिक उप‍लब्धियों भरा रहा। अतीत की गौरवमयी परंपराओं का अनुकरण करते हुए चालू वित्त वर्ष में 321 रेल इंजनों का निर्माण कर एक नया कीर्तिमान स्‍थापित किया है । इनमें डीरेका निर्मित 25 विद्युत रेल इंजन भी शामिल हैं। इतना ही नहीं वर्ष के दौरान विश्‍व में प्रथम बार डीरेका ने दो पुराने डीजल ट्रैक्शन (कर्षण) रेल इंजन को विद्युत ट्रैक्शन रेल इंजन में रूपांतरित कर एक नया कीर्तिमान स्‍थापित किया। बता दें कि वित्‍तीय वर्ष 2017-18 में डीरेका ने 315 रेल इंजनों के उत्‍पादन किया था।

04 वर्षों में 998 रेल इंजनों का उत्‍पादन करेगा डीरेका

डीरेका ने वर्तमान वित्‍तीय वर्ष के नवंबर महीने तक 59 विद्युत रेल इंजन सहित कुल 156 रेल इंजनों का उत्‍पादन किया है। इनमें से एक रूपांतरित रेल इंजन (Conversion Loco) भी शामिल है। बता दें कि हाल ही में रेलवे बोर्ड द्वारा विद्युत रेल इंजनों के उत्‍पादन लक्ष्‍य में वृद्धि करते हुए डीरेका को 400 विद्युत रेल इंजनों के उत्‍पादन का लक्ष्‍य दिया है। इसी प्रकार डीरेका का उत्‍पादन लक्ष्‍य बढ़ा कर 522 हो गया है। डीरेका को पहली बार 04 वर्ष का लक्ष्‍य एक साथ प्राप्‍त हुआ है, जिसके अंतर्गत डीरेका को 04 वर्षों में 998 रेल इंजनों का उत्‍पादन करना है।

श्रीलंका को प्रोटोटाइप 3000 अश्‍व शक्ति का रेल इंजन किया निर्यात

विपणन के क्षेत्र में भी डीरेका ने नए कीर्तिमान गढ़े। नवंब तक श्रीलंका को प्रोटोटाइप 3000 अश्‍व शक्ति के 01 रेल इंजन सहित कुल 11 रेल इंजनों एवं अतिरिक्‍त पुर्जों का निर्यात विभिन्‍न देशों एवं गैर रेलवे ग्राहकों को किया। वर्ष में अब तक डीरेका को कुल ` 125.29 करोड़ मूल्‍य का राजस्‍व प्राप्‍त हुआ। इसके अलावा डीरेका के पास नवंबर तक 37 रेल इंजनों, 01 डीजी सेट एवं अतिरिक्‍त पूर्जों की आपूर्ति व निर्यात आदेश डीरेका के पास सुरक्षित है। वैश्विक प्रतिस्‍पर्धा में डीरेका को नित नई चुनौतियों व अवसर मिल रहा है।

हरित ऊर्जा के प्रसार हेतु अब तक लगाए गए 1859 किलोवाट के ग्रिड कनेक्‍टेड सोलर पावर प्‍लांट

पर्यावरण एवं जल संरक्षण के साथ ही, हरित ऊर्जा के प्रसार हेतु अब तक लगाए गए 1859 किलोवाट के ग्रिड कनेक्‍टेड सोलर पावर प्‍लांट से प्रतिमाह लगभग 01 लाख यूनिट विद्युत का उत्‍पादन किया जा रहा है। इसके अलावा खेलकूद एवं अन्‍य गतिविधियों में भी डीरेका ने उल्लेखनीय सफलताएं दर्ज की हैं।

www.mvdindianews.in