May 25, 2022

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोरखपुर द्वारा आयोजित किया गया “आईजीआरएस मेगा मेला”, आईआरएस प्रार्थना पत्रों का सही तरीके से निस्तारण हेतु चलाया गया अभियान-

Spread the love

*वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोरखपुर द्वारा आयोजित किया गया “आईजीआरएस मेगा मेला”, आईआरएस प्रार्थना पत्रों का सही तरीके से निस्तारण हेतु चलाया गया अभियान*

 

आज दिनांक 22.04.2022 को *वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोरखपुर के निर्देशन में आईजीआरएस प्रार्थना पत्रों का सही तरीके से निस्तारण हेतु “आईजीआरएस मेगा मेला” का आयोजन पुलिस अधीक्षक अपराध के कार्यालय में किया गया एवं आइजीआरएस संभाग का निरीक्षण किया गया ।* इसी क्रम में पुलिस अधीक्षक उत्तरी/नोडल अधिकारी आइजीआरएस की अध्यक्षता में गोष्ठी कर मुख्यमंत्री पोर्टल/आईजीआरएस पोर्टल पर एक ही आवेदक द्वारा सर्वाधिक शिकायत करने वाले की सूची तैयार की गई है *जिसमें 56 व्यक्तियों को चिन्हित कर उनके मामले की सुनवाई करने हेतु उन्हे “आईजीआरएस मेगा मेला” में आमंत्रित किया गया ।* साथ ही साथ उनके प्रकरणो के जाँचकर्ताओं को भी इस गोष्ठी में बुलाकर संंबंधित जाँचकर्ता द्वारा प्रकरण के संबंध में की गई कार्यवाही के बारे में जानकारी प्राप्त की गई । *दौरान गोष्ठी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोरखपुर द्वारा शिकायत कर्ताओं का निस्तारण किन कारणों से नहीं हो पाता है तथा आइजीआरएस पोर्टल पर आए हुए प्रार्थना पत्रों का निस्तारण आवेदक के बयान दर्ज करते हुए और थाने के संबंधित थाना प्रभारी, बीट प्रभारी, संबंधित हल्का प्रभारी का आख्या नोट करते हुए ही आईजीआरएस आवेदक के प्रार्थना पत्रों का निस्तारण किया जाए जिससे आवेदक संतुष्ट हो सके *। दौरान गोष्ठी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गोरखपुर ने द्वारा *आवेदकों को सचेत करते हुए बताया गया कि अगर जांच कराने पर बिना किसी वजह के आवेदक द्वारा प्रार्थना पत्र दिया जा रहा है तो उक्त आवेदक के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करते हुए शिकायतकर्ता के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया जाएगा* जिससे बेवजह आइजीआरएस पोर्टल पर झूठी सूचना देकर पुलिस विभाग के कर्मचारियों का समय बर्बाद करने का कार्य करते हुए परेशान किया जाने की घटना पर रोक लग सके साथ ही साथ अगर *उक्त प्रार्थना पत्र में मामला सही है और पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं किया जाता है तो संबंधित पुलिस विभाग के कर्मचारियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी* जिससे शिकायतकर्ता को न्याय संगत न्याय मिल सके बार-बार पीड़ित को आइजीआरएस ना करना पड़े और आइजीआरएस पोर्टल पर आवेदकों की संख्या कम हो सके। *दौरान “आईजीआरएस मेगा मेला” पुलिस अधीक्षक दक्षिणी गोरखपुर पुलिस अधीक्षक मंदिर सुरक्षा, आइजीआरएस आवेदक, प्रकरण से संबंधित जाँचकर्ता मौजूद रहे।*