May 24, 2022

राजस्थान पाली टैंकर चालक की लापरवाही से जान आफत में आई स्कूटी सवार महिला की – विजय परमार

Spread the love

राजस्थान पाली टैंकर चालक की लापरवाही से जान आफत में आई स्कूटी सवार महिला की – विजय परमार

पाली नया बस स्टैंड चौकी प्रभारी द्वारा माननीय व्यवहार पर राखेचा ने जताई नाराजगी-

लिखित में रिपोर्ट देने के बाद पकड़ा चालक को आपसी समजाइस के बाद मामला किया शांत

 

पाली। टैंकर चालक की लापरवाही की वजह से एक स्कूटी सवार महिला की जान के आफत में आ गई। लेकिन वह मौके पर पहुंचे एक पुलिसकर्मी ने महिला को कुशलक्षेम पूछने बजाय उसे ही फटकार कर टैंकर चालक के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जिस पर महिला ने कोतवाली थाने में की रिपोर्ट भी दी जानकारी के अनुसार केशव नगर निवासी विमला पुत्री वनाराम अपनी बच्ची को छोड़कर वापस स्कूटी से नया बस स्टैंड स्थित धर्म कांटे के निकट से आ रही थी तभी एक टैंकर ने बिना साइड देकर अचानक टैंकर पीछे ले लिया। जिसकी वजह से वहां से गुजरी स्कूटी सवार महिला विमला टैंकर के नीचे आ गई इस घटना को देखकर बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए उन्होंने कैसे भी कर स्कूटी सहित महिला को बाहर निकाला इस घटना के बाद चालक वह मौजूद धर्म कांटे वाले ने पैरवी करते हैं उसे अपने कमरे में बैठा दिया जो उसने इस घटना का विरोध किया तो चालक उसे ही भला बुरा बोलने लग गया। तो दूसरी और महिला की ओर से नया बस स्टैंड चौकी प्रभारी एएसआई ओम प्रकाश को सूचित किया मौके पर पहुंचने के दौरान उन्होंने उस पीड़ित महिला को सांत्वना देने की बजाय उसे भला बुरा बोल दिया। टैंकर चालक के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई जिस से नाराज महिला कोतवाली थाना पहुंची जब उसने लिखित रिपोर्ट कोतवाली थाना प्रभारी सुरेश चौधरी को दी जब उसने अपनी आप बीती बताने के साथ ही नया बस स्टैंड चौकी प्रभारी द्वारा किए गए दुर्व्यवहार की बारे में भी जानकारी दी इस घटना को थाना प्रभारी ने गंभीरता से लिया एएसआई ओम प्रकाश को भी मौके पर बुलाया गया तो दूसरी ओर इस घटना के बारे में क्राईम इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो से प्रदेश अध्यक्ष मनीषा राखेचा को जानकारी मिलने पर तुरंत टीम के साथ राज कंवर, विजेश कुमार, रक्षा वेष्णव कोतवाली थाना पुलिस पहुंची जहां पर उन्होंने पुलिस द्वारा किए गए दुर्व्यवहार के बारे में निंदा व्यक्त की इस दौरान एएसआई ने पीड़ित महिला से अपने किए गए बर्ताव के बारे में माफी भी मांगी तो दूसरी ओर कोतवाली थाना प्रभारी मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत रूप से टैंकर चालक को गिरफ्तार कर थाने ले आई। मनीषा राखेचा के द्वारा टैंकर चालक एवं पीड़ित महिला विमला को समझाइ कर शांत किया गया। दोनों पक्षों के बीच में राजीनामा हुआ इस घटनाक्रम में क्षतिग्रस्त हुई महिला की स्कूटी को टैंकर चालक की ओर से मरम्मत करने की भी अधिकारी के समक्ष राजी हुआ। इस दौरान मनीषा राखेचा ने थाना प्रभारी सुरेश चौधरी से मुलाकात कर कहा कि जिस तरह से एएसआई द्वारा महिला के साथ मानवीय व्यवहार नहीं किया गया जिसकी निंदा करती है उन्होंने कहा कि पूर्व में भी इस तरह की शिकायतें आ चुकी है लेकिन उन्होंने नजरअंदाज किया आज घटनाक्रम होने के बावजूद भी एएसआई द्वारा इस तरह की कार्रवाई नहीं कर चालक का बचाव किया जो एक निंदनीय विषय महिला का सम्मान हर एक थाने में दिया जाना चाहिए चाहे वह परिवादी हो या या मुजरिम*।