February 21, 2024

यूपी बोर्ड परीक्षा: नकल रोकने के लिए छांटे गए विशेष निगरानी वाले परीक्षा केंद्र-

Spread the love

यूपी बोर्ड परीक्षा: नकल रोकने के लिए छांटे गए विशेष निगरानी वाले परीक्षा केंद्र

 

केंद्रों की जांच के लिए भेजे अफसर

 

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद हाईस्कूल व इंटरमीडिएट-2023 की परीक्षा नकलविहीन संपन्न कराने की दिशा में केंद्रों को लेकर एक और कदम उठाया है। परीक्षा के लिए निर्धारित केंद्रों पर नकल रोकने के प्रबंध दुरुस्त होने का प्रमाणपत्र जिला विद्यालय निरीक्षकों से लेने के बाद यूपी बोर्ड ने कुछ ऐसे केंद्र चिह्नित किए हैं, जहां नकल होने की आशंका है। ऐसे विशेष निगरानी की आवश्यकता वाले परीक्षा केंद्रों की सूची तैयार कराकर क्षेत्रीय कार्यालयों को इस निर्देश के साथ भेजी है कि सहायक सचिवों एवं उप सचिवों से भौतिक सत्यापन कराया जाए|

 

यूपी बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षा समापन की ओर हैं और लिखित परीक्षा 16 फरवरी से शुरू होंगी। नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए उन्हीं विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाया गया है, जहां विशेष रूप से सीसीटीवी की सुविधा है। संदिग्ध छवि वाले विद्यालयों को परीक्षा केंद्र की सूची से पहले ही बाहर कर दिया गया है। वह विद्यालय भी केंद्र नहीं बनाए गए हैं, जिनके बारे में एसटीएफ ने नकारात्मक रिपोर्ट दी है। परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी, वायस रिकार्डर क्रियाशील होने, केंद्रों के जिला मुख्यालय के कंट्रोल रूम से जुड़े होने पर बोर्ड और शासन को विशेष फोकस है|

 

इस संबंध में जिला विद्यालय निरीक्षकों से महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरण आनंद ने प्रमाणपत्र मांगे थे। अब प्रदेश के अधिकाश जनपदों में विशेष निगरानी की आवश्यकता वाले विद्यालय चिह्नित किए गए हैं। बोर्ड सचिव दिब्यकांत शुक्ल ने क्षेत्रीय कार्यालय के सहायक सचिवों व उप सचिवों को जांच सौंपी है। जांच के लिए क्षेत्रीय कार्यालयों से अफसरों को भेजा गया है। प्रयागराज क्षेत्रीय कार्यालय की अपर सचिव विभा मिश्रा ने उप सचिव पूनम मिश्रा, रविंद्र राम, दीपचंद्र तथा सहायक सचिव अंशिका यादव एवं रेखा अग्रवाल को शीघ्र जांच पूरी करने के निर्देश दिए हैं। क्रियाशीलता सहित अन्य बिंदुओं पर प्रमाणपत्र निर्धारित किए गए प्रारूप एक और दो पर उपलब्ध कराया जाना है|

 

यूपी बोर्ड ने हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट परीक्षा-2023 के 58,67,398 परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र ऑनलाइन कर दिए हैं। बोर्ड सचिव दिब्यकांत शुक्ल ने कहा है कि इसे प्रधानाचार्य उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट upmsp.edu.in से डाउनलोड कर प्रमाणित करते हुए विद्यार्थियों को दे सकेंगे|

 

इसके अलावा क्षेत्रीय कार्यालयों के माध्यम से प्रवेश पत्र ऑफलाइन पहले ही भेजे जा चुके हैं। बोर्ड सचिव ने बताया कि किसी परीक्षार्थी की परीक्षा प्रवेश पत्र न मिलने के कारण न छूटने पाए, इसलिए आफलाइन और आनलाइन दोनों तरह से प्रवेश पत्र उपलब्ध कराए गए हैं|

 

ग्रामीण क्षेत्रों में कई बार नेटवर्क की समस्या रहती है, जिससे प्रवेश पत्र डाउनलोड नहीं हो पाते। ऐसे में इसे आफलाइन भी भेजा गया है। आनलाइन प्रवेश पत्र को प्रधानाचार्य प्रमाणित कर दे सकेंगे। इसके साथ ही पंजीकृत परीक्षार्थियों की केंद्रवार नामावली भी वेबसाइट पर प्रदर्शित कर दी गई है। बोर्ड परीक्षा में हाईस्कूल के परीक्षार्थियों की संख्या 31,16,485 है, जबकि इंटरमीडिएट की परीक्षा के लिए 27,50,913 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं|