May 22, 2022

यूक्रेन बॉर्डर के पास रूसी सैनिकों और आर्टिलरी का जमावड़ा-

Spread the love

यूक्रेन बॉर्डर के पास रूसी सैनिकों और आर्टिलरी का जमावड़ा, सामने आईं Satellite तस्वीरें

 

 

 

कीव. यूक्रेन (Ukraine Crisis) में भयानक युद्ध की आशंका बढ़ती जा रही है. रूस (Russia-Ukraine Conflict) लगातार यूक्रेन बॉर्डर के पास मिलिट्री डेवलपमेंट कर रहा है. बुधवार को जारी की गई सैटेलाइट इमेज से इस बात का खुलासा हुआ है. तस्वीरों में क्रीमिया से लगी यूक्रेन बॉर्डर के पास रूसी मिलिट्री के नया इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट नजर आ रहा है. डिफेंस एक्सपर्ट्स के मुताबिक, सैटेलाइट इमेज से पता चलता है कि रूस ने यूक्रेन की उत्तर, पूर्व और दक्षिण की सीमा पर घेराबंदी की है.

 

 

 

Maxar Technologies की सैटेलाइट इमेज में बेलारूस के ब्रेस्ट्स्की ट्रेनिंग ग्राउंड में रूसी सैनिकों, टेंटों और नई तैनाती को दिखाया गया है. वहीं, अमेरिका ने करीब 8,500 सैनिकों को तैनाती के लिए अलर्ट पर रखा है. साथ ही नाटो रीइंफोर्समेंट भेज रहा है और सेना को स्टैंडबाय पर रखा गया है. यह विस्तार क्रीमिया और रूस के करीबी सहयोगी और पड़ोसी बेलारूस में भी देखा गया है. इसमें न केवल सैनिक बल्कि हथियार, बख्तरबंद वाहन और तोपखाने का भारी जखीरा शामिल है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इनमें से कई को दूर के ठिकानों से ट्रेन द्वारा ले जाया गया था.

 

 

 

तस्वीरों में बेलारूस के ओसिपोविची प्रशिक्षण क्षेत्र में रूसी सेना द्वारा निर्मित और तैनात मोबाइल शॉर्ट रेंज बैलेस्टिक मिसाइल सिस्टम इस्कंदर की तैनाती को भी दिखाया गया है. ओबुज लेस्नोवस्की प्रशिक्षण क्षेत्र में रूसी टेंट हैं और ट्रुप्स को तैनात किया गया है.

 

क्रीमिया में एक लाख से ज्यादा सैनिक तैनात

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की सरकार ने यूक्रेन बॉर्डर के नजदीक अपने क्षेत्र में और क्रीमिया में एक लाख से ज्यादा मजबूत बलों को तैनात किया है. क्रीमिया पर रूस ने 2014 में कब्जा कर लिया था. क्रीमिया पर कब्जे के बाद रूस ने अलगाववादी ताकतों का समर्थन किया, जिन्होंने पूर्वी यूक्रेन के बड़े हिस्से पर नियंत्रण कर लिया था.

 

क्रीमिया के नोवोजनॉय में सैनिकों की तैनाती और सैन्य उपकरणों के लिए नए आवासीय क्षेत्र सामने आए हैं. सैटेलाइट तस्वीरों में इंफेंट्री फाइटिंग व्हीकल, सैनिकों के लिए टैंट और बख्तरबंद गाड़ियां देखी जा सकती हैं.

 

पुतिन ने अमेरिका पर लगाया उकसाने का आरोप

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने मंगलवार को कहा कि अमेरिका रूस को यूक्रेन के साथ युद्ध शुरू करने के लिए उसका रहा है. वो रूस की तरक्की पर लगाम लगाना चाहता है. इसके लिए आर्थिक प्रतिबंध लगाने का बहाना खोज रहा है और इस लक्ष्य को पाने के लिए यूक्रेन का इस्तेमाल कर रहा है.

 

सैटेलाइट तस्वीरों में इंफेंट्री फाइटिंग व्हीकल, सैनिकों के लिए टैंट और बख्तरबंद गाड़ियां देखी जा सकती हैं.

पुतिन ने मंगलवार को कहा- ‘अगर यूक्रेन को नाटो में शामिल किया गया तो यह न सिर्फ रूस बल्कि पूरी दुनिया के लिए खतरनाक साबित होगा. यूक्रेन नाटो की सैन्य तकनीक और हथियार का इस्तेमाल क्रीमिया को वापस छीनने में कर सकता है. जिससे रूस और नाटो ब्लॉक के बीच युद्ध हो सकता है.’

 

 

 

पेंटागन की तैयारी

फिलहाल, करीब 4 हजार अमेरिकी सैनिक पोलैंड और 900 रोमानिया में तैनात हैं. इसके अलावा 100 अमेरिकी सैनिक लिथुआनिया में भी मौजूद हैं. अमेरिकी एयरफोर्स और नेवी को भी अलर्ट पर रहने के आदेश दे दिए गए हैं.

 

पेंटागन ने साफ कर दिया था कि रूस को इस बात की इजाजत नहीं दी सकती कि वो अपने पड़ोसी देशों और नाटो के सं‌भावित सहयोगियों पर दबाव बनाए. अमेरिका ने यूक्रेन की सेना को काफी हथियार और कुछ हार्डवेयर भी सप्लाई किए हैं.