October 21, 2021

युवा वाराणसी DM गरीबों को ढंड में रात को चुपचाप कम्बल ओढ़ाते दिखे।

Spread the love

नारस। समूचे उत्‍तर भारत में कड़ाके की ठंड शुरू हो चुकी है। इसी के साथ वाराणसी में भी पारा लुढकर 10.1 डिग्री पर आ गया है। ऐसे में सड़क के किनारे रात बिताने वालों का क्‍या हाल हो रहा होगा, इसे कोई भी आसानी से समझ सकता है। ठंड में ठिठुरने वाले ऐसे ही मजबूरों और बेसहारों को राहत देने सोमवार देर रात वाराणसी के जिलाधिकारी सड़क पर उतरे।

डीएम ने अपने आवास से लेकर दशाश्वमेध घाट और वहां पास में स्‍थित चितरंजन पार्क में बने रैन बसेरे का जायज़ा तो लिया ही साथ ही ठंड में ठिठुरते दिखे ज़रूरतमंदों को सरकारी मद से कम्बल का वितरण भी किया। इस दौरान नगर निगम के अधिकारियों की टीम भी जिलाधिकारी के साथ मौजूद रही और उन्हें शहर के रैन बसेरों की जानकारी दी।

जिलाधिकारी ने बताया कि शहर में ठण्ड को देखते हुए सभी रैन बसेरों की व्यवस्था चाक चौबंद करके उन्हें शुरू करवा दिया गया है। सभी तहसीलों में कम्बल और अलाव के लिए सरकारी ख़ज़ाने से धन आवंटित किया जा चुका है। उन्‍होने बताया कि रैन बसेरों में ज्‍यादातर वे लोग मिले जो दक्षिण भारत से यहां दर्शन पूजन के लिये आये हैं, जिन्‍हें बनारस की सर्दी के बारे में ज्‍यादा अंदाज नहीं था।

जिलाधिकारी ने बताया कि बनारस में बनाये गये विभिन्‍न रैन बसेरों को पूरी सुविधाओं से युक्‍त किया जाएगा। इसमें भोजन और शौचालय की सुविधा भी हम इस बार प्रदान करने जा रहे हैं।