May 22, 2022

यहां मिलेगा बैंकों से ज्‍यादा ब्‍याज, बचत खाते से एफडी तक जानें पूरी डिटेल-

Spread the love

यहां मिलेगा बैंकों से ज्‍यादा ब्‍याज, बचत खाते से एफडी तक जानें पूरी डिटेल

 

नई दिल्‍ली. बैंकों में पैसे जमा करते समय उसकी सुरक्षा के साथ मिलने वाली ब्‍याज दरों पर भी निगाह रहती है. चाहे बचत खाते की बात हो या एफडी अथवा अन्‍य कोई बचत योजना चुननी हो, ब्‍याज दर सबसे महत्‍वपूर्ण होती है. डाकघर बचत खाते पर अन्‍य बैंकों से कहीं ज्‍यादा ब्‍याज मिल जाता है.

 

अधिकतर सरकारी बैंकों में जहां मिनिमम बैलेंस भी ज्‍यादा रखना पड़ता है, वहीं डाकघर के बचत खाते में इसकी सीमा बेहद कम है. सरकार ने जनवरी-मार्च, 2022 तक डाकघर की विभिन्‍न बचत योजनाओं के लिए ब्‍याज दरें निर्धारित कर दी हैं. 2016-17 से पहले ये ब्‍याज दरें साल में एक बार रिवाइज होती थीं, लेकिन अब इसे हर तिमाही निर्धारित किया जाता है. हम दे रहे हैं डाकघर से जुड़ी विभिन्‍न योजनाओं की पूरी जानकारी-

 

 

 

बचत खाता

-न्‍यूनतम 500 रुपये से बचत खाता खोला जा सकता है.

-अभी इस खाते पर सालाना 4 फीसदी का ब्‍याज मिलता है.

-खाते में 500 रुपये का मिनिमम बैलेंस रखना होगा, इससे कम होने पर 100 रुपये जुर्माना लगेगा.

-खाते को एक पोस्‍ट ऑफिस से दूसरे में ट्रांसफर कराया जा सकता है.

 

फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट (FD)

-मिनिमम 1,000 रुपये से एफडी खुलवाई जा सकती है, अधिकतम की कोई सीमा नहीं.

-एक से तीन साल तक की एफडी पर सालाना 5.5 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है.

-5 साल वाली एफडी पर 6.70 फीसदी ब्‍याज मिलता है, इस पर टैक्‍स छूट भी मिलती है.

-खाते खुलवाने के 6 से 12 महीने के भीतर एफडी तोड़ते हैं तो बचत खाते जितना ही ब्‍याज मिलेगा.

 

 

 

रिकरिंग डिपॉजिट (RD)

-हर महीने मिनिमम 100 रुपये की आरडी शुरू कर सकते हैं. मेच्‍योरिटी 5 साल होती है.

-आरडी पर अभी सालाना 5.80 फीसदी ब्‍याज मिलता है.

-अगर समय पर पैसे जमा नहीं किए गए तो प्रत्‍येक 100 रुपये पर 1 रुपये का जुर्माना देना पड़ेगा.

-एक साल बाद आप आरडी के बैलेंस अमाउंट का 50 फीसदी कर्ज के रूप में ले सकते हैं.

 

मासिक आय योजना (MIS)

-सिंगल अकाउंट पर अधिकतम 4.5 लाख और ज्‍वाइंट अकाउंट पर 9 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं.

-इस खाते का मेच्‍योरिटी पीरियड भी 5 साल होता है.

-अभी MIS पर सालाना 6.60 फीसदी का ब्‍याज मिल रहा है.

-खाते पर हर महीने मिलने वाला ब्‍याज ही मासिक आय होगी. ब्‍याज की इस रकम पर कोई ब्‍याज नहीं मिलता है.

 

 

राष्‍ट्रीय बचत पत्र (NSC)

-मिनिमम 1,000 रुपये से NSC खुलवाई जा सकती है, अधिकतम की कोई सीमा नहीं.

-इस पर सालाना 6.80 फीसदी का ब्‍याज मिल रहा है.

-खाता 5 साल में मेच्‍योर होगा, जिस पर टैक्‍स छूट भी मिलती है.

-इसे सिंगल, ज्‍वाइंट या माइनर के नाम से खुलवाया जा सकता है.

 

किसान विकास पत्र (KVP)

-मिनिमम 1,000 रुपये जमा कर यह खाता खोल सकते हैं, अधिकतम की कोई लिमिट नहीं.

-इस पर सालाना 6.90 फीसदी ब्‍याज मि रहा है, जो हर तिमाही बदल सकता है.

-मेच्‍योरिटी पर जमा पैसा दोगुना हो जाएगा, लेकिन मेच्‍योरिटी पीरियड भी हर तिमाही बदल सकता है.

-यह खाता सिंगल, ज्‍वाइंट या माइनर के नाम पर खुलवा सकते हैं.

 

 

 

वरिष्‍ठ नागरिक बचत योजना (SCSS)

-यह खाता भी मिनिमम 1,000 रुपये जमा कर खुलवाया जा सकता है, अधिकतम 15 लाख रुपये जमा कर सकते हैं.

-यह एक तरह की एफडी होती है, जिस पर अभी सालाना 7.40 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है.

-एक व्‍यक्ति कई खाते खोल सकता है, लेकिन सभी को मिलाकर 15 लाख से ज्‍यादा जमा नहीं होना चाहिए.

-खाते का मेच्‍योरिटी पीरियड 5 साल रहता है.