January 24, 2021

मुरादाबाद लव जिहाद केस: पिंकी ने लगाया जबरन गर्भपात का आरोप, पति और जेठ की रिहाई की मांग

Spread the love

मुरादाबाद. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुरादाबाद (Moradabad) का कथित लव जिहाद के मामले ने नया मोड़ ले लिया है. पुलिस ने पिंकी नाम की युवती का धर्म परिवर्तन करवाने के आरोप में महिला के पति राशिद और जेठ सलीम को जेल भेज दिया था. मुरादाबाद की सीजेएम कोर्ट ने पिंकी का बयान लेने के बाद उन्‍हें बालिग मानते हुए पति राशिद के साथ ही रहने की इजाज़त दे दी है. कोर्ट के आदेश के बाद अब पिंकी नारी निकेतन से अपनी ससुराल कांठ आ चुकी है. पिंकी का आरोप है कि बजरंग दल के नेताओं ने उनका उत्पीड़न किया और ज़िला अस्पताल में डॉक्टरों ने ग़लत इंजेक्शन लगाकर जबरन गर्भपात करा दिया. पिंकी ने न्यूज़ 18 से बातचीत में अपने पति और जेठ की जल्द रिहाई की मांग सरकार से और ज़िला प्रशासन से की है.

उत्तर प्रदेश के बिजनौर की रहने वाली पिंकी की उम्र 22 साल है. उन्‍होंने 5 महीने पहले मुरादाबाद के कांठ तहसील निवासी राशिद से उत्तराखंड के देहरादून में लव मैरिज कर ली थी. 5 दिसंबर को पिंकी मुरादाबाद के कांठ में मुंसिफ मजिस्ट्रेट के यहां अपनी शादी का रजिस्ट्रेशन कराने दीपक नाम के अधिवक्त के पास जा रही थी. इसी दौरान रास्ते में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने उन्‍हें पकड़ लिया.

आरोप है कि बजरंग दल कार्यकर्ता जबरन पिंकी और उनकी सास नसीम जहां को पकड़कर थाना कांठ ले आये. जहां पिंकी ने सबके सामने ही कहा कि वो 22 साल की बालिग है और उसने अपनी मर्ज़ी से राशिद से शादी की है. बजरंग दल के कार्यकर्ता उससे थाने में ही किसी पुलिसिया अंदाज़ में पूछताछ करने लगे. पिंकी के मुताबिक बजरंग दल कार्यकर्ता अपनी कार से बिजनौर पहुंचे और वहां से उसकी मां को डरा धमका कर उनसे उसके पति राशिद और उसके भाई सलीम के खिलाफ झूठा मामला दर्ज कराया. पुलिस पर आरोप है कि उसने भी बिना किसी जांच पड़ताल के पिंकी के शौहर राशिद और उसके जेठ सलीम को जेल भेज कर पिंकी को नारी निकेतन भेज दिया. इसी दौरान पिंकी के पेट मे दर्द हुआ तो उसे ज़िला अस्पताल में भर्ती कराया गया. पिंकी का आरोप है कि उसे अस्पताल में न जाने कौन से ऐसे इंजेक्शन लगाए गए जिससे उसे ब्लडिंग शुरू हो गई और इसी दौरान उसका गर्भपात हो गया.

एसएसपी ने कही ये बात
इस मामले में मुरादाबाद के एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस ने पिंकी की मां की शिकायत पर धर्मान्तरण का केस दर्ज कर पिंकी के पति और जेठ को जेल भेज दिया था और पिंकी को नारी निकेतन भेज दिया गया था. अब कोर्ट के आदेश पर पिंकी को उसके सुसराल वालों के सपुर्द कर दिया गया है.