October 28, 2020

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में प्रदेश में स्थापित पारेषण तंत्र के सुदृढ़ीकरण हेतु एनर्जी टास्क फोर्स की बैठक संपन्न- अजय मिश्रा

Spread the love

*मुख्य सचिव की अध्यक्षता में प्रदेश में स्थापित पारेषण तंत्र के सुदृढ़ीकरण हेतु एनर्जी टास्क फोर्स की बैठक संपन्न*

 

*मुख्य सचिव ने पारेषण तंत्र के सुदृढ़ीकरण हेतु 1221.45 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से उपकेन्द्रों एवं लाइनों के निर्माण कार्य के प्रस्ताव को संस्तुति प्रदान कर सक्षम स्तर से अनुमोदन प्राप्त करने के निर्देश दिये*

 

*लखनऊ: 14 अक्टूबर, 2020*

 

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में प्रदेश में स्थापित पारेषण तंत्र के सुदृढ़ीकरण हेतु एनर्जी टास्क फोर्स की बैठक आहूत की गई।

बैठक में मुख्य सचिव ने 297.29 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से 400/220/132 के0वी0 जी0आई0एस0 उपकेन्द्र मोहनलालगंज, लखनऊ एवं तत्सम्बन्धी 400 के0वी0 लाइनों के निर्माण, 601.37 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से 765 के0वी0 घाटमपुर-हापुड़ (डब्ल्यू0यू0पी0पी0टी0सी0एल0) लाइन का 765 के0वी0 उपकेन्द्र रामपुर पर लीलो (02 एकल पथ क्वाड बर्सिमिस) एवं 400 के0वी0 बरेली (पी0जी0)-मुरादाबाद डी0सी0 लाइन के एक सर्किट का 765 के0वी0 उपकेन्द्र रामपुर पर लीलो के निर्माण तथा 76.57 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से 400 के0वी0 अटौर (डब्ल्यू0यू0पी0पी0टी0सी0एल0) -इन्दिरापुरम (डब्ल्यू0यू0पी0पी0टी0सी0एल0) डी0सी0, क्वाड मूज लाइन के एक सर्किट का मोनोपोल (क्वाड मूज) पर 400 के0वी0 जी0आई0एस0 उपकेन्द्र सेक्टर-123, नोएडा पर लीलो के निर्माण अर्थात कुल 975.23 करोड़ रुपये के निर्माण सम्बन्धी प्रस्ताव पर अपनी संस्तुति प्रदान करते हुये सक्षम स्तर से अनुमोदन प्राप्त करने के निर्देश दिये हैं।

उक्त सभी निर्माण कार्य भारत सरकार की गाइडलाइन्स के अनुसार पी0पी0पी0 मोड पर टैरिफ बेस्ड काॅम्प्टेटिव बिडिंग (टी0बी0सी0बी0) पद्धति पर कराये जायेंगे। उपकेन्द्रों एवं लाइनों के निर्माण से इन क्षेत्रों में विद्युत भार के कारण उपकेन्द्रों एवं लाइनों की अतिभारता दूर होगी।

इसके अतिरिक्त मुख्य सचिव द्वारा मोहनलालगंज, लखनऊ उपकेन्द्र की डाउस्ट्रीम 220 के0वी0, 132 के0वी0 की लाइनें, जिनकी लागत 54.97 करोड़ रुपये तथा 73.32 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से 133/33 के0वी0, 2ग्40 एम0वी0ए0 उपकेन्द्र पडरौना (कुशीनगर) एवं तत्सम्बन्धी लाइनों के निर्माण कार्य तथा 117.93 करोड़ रुपये की लागत से 220/132/33 के0वी0, 2ग्160, 2ग्40 एम0वी0ए0 आनन्दनगर (महाराजगंज) उपकेन्द्र एवं तत्सम्बन्धी लाइनों के निर्माण अर्थात कुल 246.22 करोड़ रुपये के निर्माण कार्य सम्बन्धी प्रस्ताव पर अपनी संस्तुति प्रदान की गई है। यह निर्माण कार्य ई0पी0सी0 मोड पर कराये जायेंगे।

बैठक में उ0प्र0 राज्य विद्युत उत्पादन एवं पारेषण निगम के प्रबंध निदेशक डाॅ0 सैंथिल पाण्डियन सी0 ने बताया कि 400/220/132 के0वी0 जी0आई0एस0 उपकेन्द्र मोहनलालगंज, लखनऊ एवं तत्सम्बन्धी 400 के0वी0 लाइनों के निर्माण से वर्तमान में लखनऊ जनपद एवं आसपास के क्षेत्रों में तेजी से बढ़ते विद्युत भार के कारण उपकेन्द्रों, लाइनों की अतिभारित दूर होगी और पारेषण तंत्र और अधिक सुदृढ़ होगा।

इसी प्रकार 132/33 के0वी0 उपकेन्द्र पडरौना के निर्माण से तहसील पडरौना, जनपद कुशीनगर एवं आसपास के क्षेत्रों की आपूर्ति हेतु 132/33 के0वी0 उपकेन्द्र, कसयां एवं 132 के0वी0 उपकेन्द्र राजापाकड़ पर विद्युत भारिता कम होगी तथा गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित हो सकेगी। महाराजगंज में 220/132/33 के0वी0, 2ग्160, 2ग्40 एम0वी0ए0 आनन्दनगर उपकेन्द्र एवं तत्सम्बन्धी लाइनों के निर्माण से 220 के0वी0 उपकेन्द्र बरहुआ एवं 220 के0वी0 उपकेन्द्र मोतीराम अड्ड़ा पर पड़ने वाले विद्युत भार में कमी आयेगी तथा भविष्य में भी पड़ने वाले विद्युत भार की आपूर्ति करने में सहायक होंगे। इस उपकेन्द्र के निर्माण हेतु आवश्यक भूमि का क्रय किया जा चुका है।

बैठक में अपर मुख्य सचिव ऊर्जा अरविन्द कुमार, अपर मुख्य सचिव वित्त एस0राधा चैहान, अपर मुख्य सचिव नियोजन कुमार कमलेश, अपर मुख्य सचिव सिंचाई टी0वेंकटेश, प्रमुख सचिव वन एवं पर्यावरण सुधीर गर्ग, सचिव सिंचाई अनिल गर्ग, सचिव ऊर्जा एम0देवराज सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।

———-