January 25, 2021

मुख्यमंत्री ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र संकिसा, जनपद फर्रुखाबाद  में ‘मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले’ का उद्घाटन किया- अजय मिश्रा

Spread the love

मुख्यमंत्री ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र संकिसा, जनपद फर्रुखाबाद

में ‘मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले’ का उद्घाटन किया

 

जनपद फर्रुखाबाद की 92 करोड़ रु0 लागत की

विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास

 

मुख्यमंत्री ने ‘मिशन शक्ति’ पुस्तिका का विमोचन तथा विभिन्न

जनकल्याणकारी योजनाओं के तहत पात्र लाभार्थियों को

स्वीकृति पत्र एवं प्रशस्ति पत्र का वितरण किया

 

आरोग्य को प्राप्त करना हर एक व्यक्ति का अधिकार,

इस उद्देश्य से ‘मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेलों’ का आयोजन

 

प्रधानमंत्री जी के पिछले 06 वर्षों के कार्यकाल के

दौरान देश में एक नया परिवर्तन देखने को मिला

 

मुख्यमंत्री ने देश के वैज्ञानिकों को कोरोना वैक्सीन

बनाने के लिए बधाई दी, कोरोना वाॅरियर्स का अभिनन्दन किया

 

‘एक जनपद, एक उत्पाद’ योजना के तहत

युवाओं और परम्परागत उद्यमियों को जोड़ा जा रहा

 

स्वरोजगार के लिए बैंक से लोन भी उपलब्ध कराया जा रहा,

युवाओं को रोजगार देने के लिए रोजगार मेलों का आयोजन

 

फर्रुखाबाद जनपद में पर्यटन विकास की अपार सम्भावनाएं

 

जनपद फर्रुखाबाद के आलू की पैदावार और इसकी वैरायटी

को बाजार तक पहुंचाने के लिए इसकी ब्राण्डिंग व मार्केटिंग की जाए

 

जनसहभागिता से कृषि क्षेत्र में सुधार को तेजी से गति दी जा सकती है

 

किसानों की आमदनी को दोगुना करने के लिए तेजी से कार्य करना होगा

 

संकिसा को बौद्ध तीर्थ स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा,

पर्यटकों के आने से यहां के युवाओं को रोजगार मिलेगा

 

प्रदेशवासियों को केन्द्र और राज्य की विभिन्न जनकल्याणकारी

योजनाओं का लाभ बिना किसी भेदभाव के उपलब्ध कराया जा रहा

लखनऊ: 10 जनवरी, 2021

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र संकिसा, जनपद फर्रुखाबाद में ‘मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले’ का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने जनपद फर्रुखाबाद की 92 करोड़ रुपए लागत की विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। साथ ही, ‘मिशन शक्ति’ पुस्तिका का विमोचन किया। उन्होंने विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के तहत पात्र लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र एवं प्रशस्ति पत्र भी वितरित किए।

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पूरे प्रदेश में एक बार फिर से मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेलों का शुभारम्भ किया जा रहा है। उन्होंने पूरे प्रदेश में 3,400 से अधिक स्थानों पर आयोजित होने वाले आरोग्य मेलों का शुभारम्भ महात्मा बुद्ध की पावन भूमि पर संकिसा में होने के लिए स्वयं को सौभाग्यशाली बताते हुए प्रदेश एवं जनपदवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है और पिछले 10 माह के दौरान जनता ने जिस अनुशासन का परिचय देकर के कोरोना पर देश की लड़ाई को विजयी बनाने के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य किया है, वह प्रशंसनीय है।

मुख्यमंत्री जी ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का अभिनन्दन करते हुए कहा कि 16 जनवरी, 2021 से कोविड-19 वैक्सीनेशन की व्यवस्था की गई है। पहले चरण में चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य कर्मियों को यह वैक्सीन लगेगी, दूसरे चरण में सुरक्षा एवं राजस्व कर्मियों को इसके साथ जोड़ा जाएगा। तीसरे चरण में 50 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और विभिन्न प्रकार की बीमारियों से ग्रसित व्यक्तियों को तथा चैथे चरण में शेष सामान्य लोगों को भी इस वैक्सीन का लाभ प्राप्त होगा। उन्होंने प्रधानमंत्री जी द्वारा इस सम्बन्ध में की गई घोषणा का स्वागत करते हुए, उनका हृदय से अभिनन्दन किया।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के कुशल नेतृत्व में अब हम लोग कोरोना से सफलतापूर्वक मुकाबला करते हुए बचाव की स्थिति में आ चुके हैं। देश के वैज्ञानिकों ने कोरोना से बचाव के लिए 02 वैक्सीन तैयार किए हैं। लोगों को कोविड-19 संक्रमण से बचाने के लिए अब टीका लगाया जा सकता है। उन्होंने देश के वैज्ञानिकों को कोरोना वैक्सीन बनाने के लिए बधाई दी। इस मौके पर उन्होंने कोरोना वाॅरियर्स का अभिनन्दन भी किया।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आरोग्य को प्राप्त करना हर एक व्यक्ति का अधिकार है। इस उद्देश्य से ‘मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेलों’ का आयोजन किया जा रहा है। इन मेलों के दौरान चिकित्सक दवाई देंगे तथा सामान्य बीमारियों की जांच एवं उपचार भी करेंगे। साथ ही, आयुष्मान भारत योजना के सम्बन्ध में जानकारी दी जाएगी तथा इसके तहत गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराए जाएंगे। टी0बी0 के उपचार की व्यवस्था की जाएगी। बच्चों तथा गर्भवती महिलाओं को लगने वाले टीके की जानकारी भी उपलब्ध करायी जाएगी। आरोग्य मेलों से लाखों की संख्या में लाभार्थियों को लाभ प्राप्त हुआ है। कोरोना-19 के दृष्टिगत आरोग्य मेलों का आयोजन स्थगित कर दिया गया था, जिसका आज पुनः शुभारम्भ किया गया है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के पिछले 06 वर्षों के कार्यकाल के दौरान देश में एक नया परिवर्तन देखने को मिला है। आज योजनाओं की धनराशि सीधे लाभार्थी के खाते में भेजी जा रही है। प्रदेश सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 35 लाख लोगों को आवास उपलब्ध कराए गए हैं। शौचालय आरोग्य का आधार है और नारी गरिमा का प्रतीक भी। इसके अन्तर्गत 02 करोड़ 61 लाख लाभार्थियों को शौचालय का लाभ मिला है। प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक सामुदायिक शौचालय का निर्माण किया जा रहा है। स्वयं सहायता समूह की एक महिला को सामुदायिक शौचालय के रख-रखाव के साथ जोड़ा जा रहा है। इस कार्य के लिए महिला को 6,000 रुपए का मानदेय देकर रोजगार भी उपलब्ध कराने का कार्य किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश के गरीब, किसान, महिलाएं तथा नौजवान बड़ी संख्या में विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं व कार्यक्रमों से लाभान्वित हो रहे हैं। राज्य सरकार ने प्रदेश में सकारात्मक वातावरण तैयार किया है। राज्य सरकार एक संकल्प के साथ कार्य कर रही है। अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है। भ्रष्टाचार पर सरकार की जीरो टाॅलरेंस नीति है। इसे प्रभावी ढंग से लागू किया गया है। पहले गरीबों एवं व्यापारियों की जमीनों पर माफिया कब्जा करते थे, आज इन माफियाओं की अवैध सम्पत्तियों पर बुलडोजर चल रहे हंै। गरीबों एवं व्यापारियों की जमीनों को माफियाओं से मुक्त कराने का कार्य सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि शासन की हर एक योजना का लाभ पात्र लाभार्थी तक पहुंचेगा।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ‘एक जनपद, एक उत्पाद’ योजना के तहत युवाओं और परम्परागत उद्यमियों को जोड़ा जा रहा है। उन्हें स्वरोजगार के लिए बैंक से लोन भी उपलब्ध कराया जा रहा है। साथ ही, युवाओं को रोजगार देने के लिए रोजगार मेलों का भी आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि फर्रुखाबाद जनपद आलू की पैदावार और इसकी वैरायटी के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि ‘एक जनपद एक उत्पाद’ योजना के तहत यहां के प्रोडक्ट ने देश में अपनी नई पहचान बनायी है। यहां पर अनेक प्रकार के आलू पैदा होते हैं। आवश्यकता इस बात की है कि इस जनपद की आलू की पैदावार को बाजार तक पहुंचाने के लिए इसकी ब्राण्डिंग व मार्केटिंग की जाए। इस क्षेत्र में खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां स्थापित की जाएं।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि नौजवानों को ‘एक जनपद, एक उत्पाद योजना’ से जोड़कर उनको आगे बढ़ाने का कार्य किया जाए। लोन एवं रोजगार मेलों का भी आयोजन किया जाए। उन्होंने कहा कि संकिसा में रोजगार की अनेक सम्भावनाएं हैं। यहां पर आलू प्रोसेसिंग को आगे बढ़ाने का कार्य प्रारम्भ होना चाहिए, जिससे किसानों के परिश्रम का लाभ उन्हें मिलेगा। यहां पर कोल्ड स्टोरेज बनाने का कार्य किया जाए, समूह एवं एफ0पी0ओ0 बनाकर भी इस कार्य को किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए पैकेज के तहत कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर को सुदृढ़ किया जा रहा है। इसके अन्तर्गत कोल्ड स्टोरेज और भण्डारण की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। महिलाएं भी स्वयंसेवी समूह बनाकर कृषि क्षेत्र में योगदान कर सकती हैं। एफ0पी0ओ0 का गठन किया जा रहा है। जनसहभागिता से कृषि क्षेत्र में सुधार को तेजी से गति दी जा सकती है। उन्हांेने कहा कि जनप्रतिनिधियों के समन्वय के साथ अधिकारी किसानों के हित की योजनाओं को आगे बढ़ाएं। किसानों की आमदनी को दोगुना करने के लिए तेजी से कार्य करना होगा।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा लागू की गयी जनकल्याणकारी योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया जाए, ताकि लोगों को इनकी जानकारी मिले और वे इन योजनाओं का लाभ उठा सकें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेलों के आयोजन का उद्देश्य वंचित लोगों तक स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ पहंुचाना है, ताकि उन्हें भी यह सेवाएं उपलब्ध हो सकें। हर व्यक्ति तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाने का कार्य किया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा गम्भीर बीमारियों से ग्रस्त मरीजों को उच्च चिकित्सा केन्द्रों में भेजकर उपचार भी करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष जब आरोग्य मेलों का शुभारम्भ किया गया था, तब इन मेलों में 01 लाख लोगों ने अपनी उपस्थित दर्ज की थी। अन्तिम आरोग्य मेलों में लगभग 07 लाख लोगों ने आमद दर्ज की थी।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि संकिसा का सम्बन्ध भगवान बुद्ध से है। भगवान बुद्ध हमारी धरोहर हैं। जब भी मानवता के सामने अस्तित्व का संकट खड़ा होता है तो दुनिया को बुद्ध नजर आते हैं। उन्होंने कहा कि संकिसा को बौद्ध तीर्थ स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। इससे दुनिया भर के यात्री यहां आएंगे। पर्यटकों के आने से यहां के युवाओं को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि पर्यटन की अनेक सम्भावनाओं के साथ फर्रुखाबाद में होटल और रेस्टोरेण्ट का नया कारोबार उभरेगा।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेशवासियों को केन्द्र और राज्य की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ बिना किसी भेदभाव के उपलब्ध कराया जा रहा है। इनमें प्रधानमंत्री आवास योजना, आयुष्मान भारत योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टार्टअप योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना, ‘एक जनपद-एक उत्पाद’ सहित अन्य योजनाएं शामिल हैं। उन्होंने कहा कि लाभार्थीपरक योजनाओं का लाभ लेने के लिए पात्र लाभार्थी अपने क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों से भी सम्पर्क कर सकते हैं। संवाद स्थापित होने से इन योजनाओं का भरपूर लाभ लिया जा सकता है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में पिछले साढ़े तीन साल के दौरान बहुत बदलाव आया है। कानून का राज स्थापित हुआ है। प्रदेश की कानून व्यवस्था पहले से बहुत बेहतर है, आज महिलाएं घर से निकलकर अपने कार्य पूरे भरोसे के साथ कर रही हैं। लड़कियां शिक्षा प्राप्त करने के लिए स्कूल, काॅलेज जा रही हैं। राज्य सरकार द्वारा बिना किसी भेदभाव के प्रदेश के युवाओं को बड़े पैमाने पर सरकारी नौकरियां दी गई हैं। उनके रोजगार की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल के दौरान लगभग 04 लाख नौकरियां दी गई हैं। इनमें 01 लाख 35 हजार पुलिस कर्मियों की भर्ती तथा 01 लाख 10 हजार शिक्षकों की भर्ती शामिल हैं। विभिन्न विभागों में नियुक्तियों की प्रक्रिया चल रही है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि फर्रुखाबाद जनपद में पर्यटन विकास की अपार सम्भावनाएं हैं। उन्होंने आश्वस्त किया कि श्रावस्ती, कौशाम्बी, कपिलवस्तु आदि की विकास योजनाओं की भांति संकिसा की विकास योजनाओं को नई ऊंचाइयों तक ले जाया जाएगा। शासन की तरफ से पर्यटन विकास की सम्भावनाओं पर पूरा कार्य किया जाएगा। पर्यटकों, श्रद्धालुओं, तीर्थयात्रियों के आगमन के साथ ही, नौजवानों को रोजगार उपलब्ध होगा।

मुख्यमंत्री जी ने मुख्य विकास अधिकारी श्री राजेन्द्र पैंसिया को कायाकल्प योजना में प्रदेश में आठवां स्थान व मिशन प्रेरणा के तहत प्रदेश में द्वितीय स्थान प्राप्त करने तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी सुश्री वन्दना सिंह को कोरोना काल में उत्कृष्ट कार्य एवं आयुष्मान भारत योजना के विशेष अभियान के तहत प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त करने के लिए प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। मुख्यमंत्री जी ने विकास प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्होंने इस अवसर पर बच्चों का अन्नप्राशन भी कराया।

इस अवसर पर जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी एवं अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

———