January 21, 2021

मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तावित पंचनद बैराज परियोजना तथा अयोध्या बैराज परियोजना का प्रस्तुतीकरण- अजय मिश्रा

Spread the love

मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तावित पंचनद बैराज परियोजना

तथा अयोध्या बैराज परियोजना का प्रस्तुतीकरण

यमुना नदी पर आगरा शहर में स्थित ताजमहल के 1.5 कि0मी0 डाउन स्ट्रीम में

रबर डैम के निर्माण के सम्बन्ध में प्रस्तावित परियोजना का भी प्रस्तुतीकरण

 

पंचनद बैराज परियोजना तथा अयोध्या बैराज परियोजना के निर्माण

कार्यों के सम्बन्ध में प्राथमिकता से कार्यवाही किए जाने के निर्देश

 

परियोजनाओं से पेयजल की उपलब्धता, सिंचन क्षमता तथा पर्यटन

वृद्धि की गतिविधियों को जोड़ते हुए कार्य किया जाए: मुख्यमंत्री

 

राज्य सरकार आधारभूत सुविधाओं के विकास के लिए निरन्तर प्रयासरत और प्रतिबद्ध

 

परियोजना से सामाजिक व आर्थिक समृद्धि के

साथ-साथ मत्स्य पालन और पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा

 

बुन्देलखण्ड के साथ-साथ मध्य और पश्चिमी उ0प्र0 भी इस परियोजना से लाभान्वित होंगे

 

अयोध्या बैराज परियोजना के दृष्टिगत सरयू जी की

प्रकृति व प्रवाह का व्यापक अध्ययन करते हुए कार्य किया जाए

 

परियोजना को इस प्रकार तैयार किया जाए कि सरयू जी सहित

अयोध्या में घाटों पर जल के प्रवाह की उपलब्धता सुनिश्चित रहे

 

अधिकारियों को परियोजनाओं के सम्बन्ध में ठोस प्रस्ताव तैयार कर

भारत सरकार तथा सम्बन्धित एजेन्सियों व संस्थाओं से समन्वय किये जाने के निर्देश

 

लखनऊ: 01 जनवरी, 2021

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के समक्ष आज यहां उनके सरकारी आवास पर प्रस्तावित पंचनद बैराज परियोजना तथा अयोध्या बैराज परियोजना का प्रस्तुतीकरण किया गया। मुख्यमंत्री जी ने प्रस्तावित पंचनद बैराज परियोजना तथा अयोध्या बैराज परियोजना को उपयोगी बताते हुए इनके निर्माण कार्यों के सम्बन्ध में प्राथमिकता से कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं से पेयजल की उपलब्धता, सिंचन क्षमता तथा पर्यटन वृद्धि की गतिविधियों को भी जोड़ते हुए कार्य किया जाए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पंचनद बैराज परियोजना से जनपद औरैया, कानपुर देहात एवं जालौन में सिंचन क्षमता में वृद्धि होगी तथा इन जनपदों के साथ-साथ अन्य जनपद भी लाभान्वित होंगे। साथ ही, कृषकों को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आधारभूत सुविधाओं के विकास के लिए निरन्तर प्रयासरत और प्रतिबद्ध है। इस परियोजना से सामाजिक व आर्थिक समृद्धि के साथ-साथ मत्स्य पालन और पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड के साथ-साथ मध्य और पश्चिमी उत्तर प्रदेश भी इस परियोजना से लाभान्वित होंगे। पंचनद बैराज परियोजना से नदियों के जल की अविरलता बनाए रखने में भी मदद मिलेगी, जिससे पर्वों, त्योहारों और कुम्भ के दौरान जनता को लाभ होगा।

मुख्यमंत्री जी ने अयोध्या बैराज परियोजना के सम्बन्ध में कहा कि इस परियोजना के दृष्टिगत सरयू जी की प्रकृति व प्रवाह का व्यापक अध्ययन करते हुए कार्य किया जाए। परियोजना को इस प्रकार तैयार किया जाए कि सरयू जी सहित अयोध्या में घाटों पर जल के प्रवाह की उपलब्धता सुनिश्चित रहे। उन्होंने कहा कि जनपद अयोध्या को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने में भी इस परियोजना से मदद मिलेगी। इस अवसर पर यमुना नदी पर आगरा शहर में स्थित ताजमहल के 1.5 कि0मी0 डाउन स्ट्रीम में रबर डैम के निर्माण के सम्बन्ध में प्रस्तावित परियोजना का भी प्रस्तुतीकरण किया गया।

मुख्यमंत्री जी ने सभी परियोजनाओं के प्रस्तुतीकरण के उपरान्त अधिकारियों को परियोजनाओं के सम्बन्ध में ठोस प्रस्ताव तैयार कर भारत सरकार तथा सम्बन्धित एजेन्सियों व संस्थाओं से समन्वय किये जाने के निर्देश दिये।

मुख्यमंत्री जी को अधिकारियों ने प्रस्तावित पंचनद बैराज परियोजना के सम्बन्ध में बताया कि यह परियोजना क्वारी, पहुंज, सिन्ध, चम्बल तथा यमुना जी के संगम से लगभग 16 कि0मी0 दूर होगी। इससे जनपद औरैया, कानपुर देहात एवं जालौन में 64,950 हेक्टेयर सिंचन क्षमता का अपगे्रडेशन होगा, जिससे लगभग 83,000 कृषक लाभान्वित होंगे। इसी प्रकार जनपद अयोध्या में सरयू जी (घाघरा) पर अयोध्या बैराज परियोजना प्रस्तावित है, जिसके लिए नदी एवं स्थल के सर्वेक्षण एवं अध्ययन कार्य को पूर्ण किया जा चुका है। इसके सम्बन्ध में विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डी0पी0आर0) तैयार की जा रही है।

इस अवसर पर जल शक्ति मंत्री डाॅ0 महेन्द्र सिंह, अपर मुख्य सचिव सिंचाई श्री टी0 वेंकटेश, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

——–