October 26, 2020

मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में प्रदेश में मूल्य समर्थन योजना के अन्तर्गत किसानों से धान की खरीद तेजी से की जा रही- अजय मिश्रा

Spread the love

मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में प्रदेश में मूल्य समर्थन

योजना के अन्तर्गत किसानों से धान की खरीद तेजी से की जा रही है

 

प्रथम चरण में पश्चिमी उ0प्र0 में 01 अक्टूबर, 2020 से प्रारम्भ हुई धान

क्रय प्रक्रिया के अन्तर्गत आज 12 अक्टूबर, 2020 तक

कुल 15845.99 मी0 टन धान की खरीद हुई

 

विगत वर्ष (2019-2020) के दौरान इस

अवधि में 837.21 मी0 टन धान की खरीद हुई थी

 

मुख्यमंत्री द्वारा खरीफ क्रय वर्ष 2020-2021 के अन्तर्गत धान क्रय के लिए समय से सभी इंतजाम करने तथा किसानों को सभी सहूलियतें उपलब्ध कराने के साथ-साथ यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए कि किसानों

को अपनी उपज बेचने में कोई दिक्कत न हो

लखनऊ: 12 अक्टूबर, 2020

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देशों के क्रम में प्रदेश में मूल्य समर्थन योजना के अन्तर्गत किसानों से धान की खरीद तेजी से की जा रही है। प्रथम चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 01 अक्टूबर, 2020 से प्रारम्भ हुई धान क्रय प्रक्रिया के अन्तर्गत आज 12 अक्टूबर, 2020 तक कुल 15845.99 मी0 टन धान की खरीद की जा चुकी है। इसके सापेक्ष विगत वर्ष (2019-2020) के दौरान इस अवधि में 837.21 मी0 टन धान की खरीद हुई थी।

यह जानकारी आज यहां देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा खरीफ क्रय वर्ष 2020-2021 के अन्तर्गत धान क्रय के लिए समय से सभी इंतजाम करने के निर्देश दिए गए थे। उनके द्वारा यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए थे कि किसानों को अपनी उपज बेचने में कोई दिक्कत न हो और उन्हें सभी सहूलियतें उपलब्ध करायी जाएं।

उल्लेखनीय है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लखनऊ सम्भाग के जनपद लखीमपुर, हरदोई, सीतापुर तथा बरेली, मुरादाबाद, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़, झांसी मण्डलों में 01 अक्टूबर, 2020 से 31 जनवरी, 2021 तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश के लखनऊ सम्भाग के जनपद लखनऊ, रायबरेली, उन्नाव तथा चित्रकूट, कानपुर, अयोध्या, देवीपाटन, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, वाराणसी, विन्ध्यांचल एवं प्रयागराज मण्डलों में 15 अक्टूबर, 2020 से 28 फरवरी, 2021 तक क्रय होगी।

मुख्यमंत्री जी के निर्देशों के क्रम में धान क्रय हेतु खाद्य विभाग की विपणन शाखा, एस0एफ0सी0, पी0सी0एफ0, पी0सी0यू0, मण्डी परिषद उ0प्र0, एन0सी0सी0एफ0, नैफेड, भारतीय खाद्य निगम, उ0प्र0 उपभोक्ता सहकारी संघ (यू0पी0एस0एस0) एवं उ0प्र0 राज्य कृषि एवं औद्योगिक निगम (यू0पी0 एग्रो) द्वारा सम्पूर्ण प्रदेश में कुल 4000 क्रय केन्द्र स्थापित किए जाएंगे। यह सभी क्रय एजेन्सियां अपनी संस्था के क्रय केन्द्रों के अतिरिक्त पंजीकृत सोसाइटी व मल्टी स्टेट को-आपरेटिव सोसाइटी, एफ0पी0ओ0/एफ0पी0सी0 को सम्बद्ध कर उनके माध्यम से भी धान क्रय करेंगी।

——–