July 16, 2024

मिल्कीपुर में मां,बेटी तथा बेटा सहित तीन लोगों की हुई निर्मम हत्या, क्षेत्र में फैली सनसनी-

Spread the love

*मिल्कीपुर में मां,बेटी तथा बेटा सहित तीन लोगों की हुई निर्मम हत्या, क्षेत्र में फैली सनसनी*

 

घटनास्थल पर पहुंचे पर अपर पुलिस आयुक्त संतोष सिंह तथा डीसीपी विक्रांत वीर सिंह,एसीपी अंजनी कुमार राय तथा डॉग स्क्वायड व फोरेंसिक टीम

 

 

रोहनिया-राजातालाब थाना क्षेत्र के जक्खिनी पुलिस चौकी अंतर्गत मिल्कीपुर गांव में गुरुवार को हुए तिहरे हत्या से ग्रामीण क्षेत्र में सनसनी फैल गई। यहा एक घर से मां बेटे और बेटी की लाश मिली।तीनों की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी। मृतकों की शिनाख्त रानी गुप्ता 55 वर्ष पत्नी भोला गुप्ता निवासी पनियरा तथा पूजा गुप्ता मृतका की पुत्री 30 वर्ष और पुत्र मोहन 23 वर्ष के रूप में हुई। पुलिस के अनुसार घटना दो दिन पुरानी लग रही थी।एडिशनल सीपी संतोष कुमार ने बताया कि घटना एक-दो दिन पूर्व की प्रतीत होती है।रानी के मकान का दरवाजा दो दिनों से नहीं खुला था।घर के बाहर दो कुर्सी और साइकिल पड़ी थी। आसपास के लोगों ने आशंकाबश इस बात की सूचना पुलिस को दी।पुलिस ग्राम प्रधान पनियरा को बुलाकर घर के अंदर गए। अंदर तीन लाश जगह जगह जमीन पर खून से लथपथ पड़ी हुई थी। रानी गुप्ता और बेटे मोहन की लाश गैलरी में पड़ी थी जबकि पूजा की लाश आंगन में पड़ी हुई थी।सभी के गले और मुंह पर धारदार हथियार के निशान थे।पास में ही हंसिया और खून लगा डंडा और एक टूटी हुई कुर्सी भी पड़ी थी।

रानी गुप्ता राजातालाब जक्खिनी सड़क पर मिल्कीपुर गांव में पूरब की पटरी पर रह रही थी।साथ में उसका बेटा मोहन भी रहता था। रानी की बेटी पूजा गुप्ता इधर कुछ महीनों से मां के घर आई थी। रानी गुप्ता का उसके पति भोला गुप्ता से विवाद होने के बाद वह यहां मिल्कीपुर में कई वर्षों से अपने एक बेटे के साथ रहती थी।जबकि एक बेटा दीपक और बेटी आरती भोला गुप्ता के साथ पनियरा गांव में रहते थे। भोला और रानी के बीच नहीं पटती थी। दोनों कई सालों से अलग अलग रह रहे थे।पूजा गुप्ता की शादी बंदेपुर निवासी अरबिंद के साथ हुई थी।स्थानीय लोगों ने बताया कि अरविंद दो दिन पहले रानी गुप्ता के घर आया था।वह अक्सर यही रहा भी करता था। पूजा गुप्ता के तीन बच्चे हैं। एक डेढ़ साल का बच्चा पूजा के साथ रहता था।जबकि दो बच्चे उसके ससुराल में थे।पूजा का पति अरविंद दो दिन पहले छोटे बच्चे को भी अपने घर उठा ले गया था।स्थानीय लोगों ने बताया कि दो दिन पहले घर से झगड़ा होने की आवाज आई थी। कयास लगाया जा रहा है कि यह घटना 2 दिन पहले ही रात में घटित हो गई थी।घटना की सूचना के बाद पुलिस उच्चाधिकारी भी मौके पर पहुंचे थे। फॉरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड भी मौके पर पहुंची।कुत्तिया घर के पीछे से कुछ दूर जाने के बाद वापस लौट आई।पुलिस ने मौका मुआयना कर तीनों लाश को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

सूचना मिलने पर भोला गुप्ता भी मौके पर पहुंचे और दृश्य देखकर फूट-फूट कर रोने लगे। उनका कहना था कि उनके बेटे और बेटी अकारण मारे गए।घटना के बाद भी अरबिंद का कहीं पता नहीं चल पाया।पुलिस ने बताया कि अरबिंद की मोबाइल स्विच ऑफ है। घटना की सूचना के बाद भी मौके पर अरविंद के परिजन बंदेपुर से मिल्कीपुर नहीं पहुंचे।आसपास के लोग घटना की सूचना से स्तब्ध हो गए और मौके पर भारी भीड़ जुट गई। स्थानीय लोग घटना को लेकर तरह तरह की चर्चाये कर रहे थे। जिसके दौरान भोलानाथ गुप्ता के बड़ा पुत्र दीपक गुप्ता ने अपने जीजा बंदेपुर निवासी अरविंद गुप्ता तथा बाबूराम के पूरा निवासी मनोज मिश्रा के खिलाफ हत्या का आरोप लगाते हुए राजातालाब थाने पर तहरीर दिया।