July 12, 2024

माघ मेला 2022-23 के लिए साधु-संतों, संस्थाओं व अन्य को भूमि आवंटन 11 दिसम्बर से प्रस्तावित-

Spread the love

माघ मेला 2022-23 के लिए साधु-संतों, संस्थाओं व अन्य को भूमि आवंटन 11 दिसम्बर से प्रस्तावित

 

मेलाधिकारी, माघ मेला श्री अरविन्द कुमार चैहान ने बताया है कि माघ मेला 2022-23 में साधु-संतो, संस्थाओं व अन्य को परम्परानुसार भूमि/सुविधाओं का आवंटन किया जाना है। माघ मेला 2022-23 में दिनांक 11 एवं 12.12.2022 को दण्डी स्वामी नगर, दण्डी बाड़ा मार्ग में भूमि का आवंटन किया जायेगा। इसी प्रकार 14 व 15.12.2022 को खाकचैक, 17 व 18.12.2022 को आचार्य स्वामी नगर (आचार्य बाड़ा), 19.12.2022 को संगम लोवर मार्ग, संगम अपर मार्ग एवं सरस्वती मार्ग, महावीर जी मार्ग, 20.12.2022 को अन्नपूर्णा मार्ग, सेक्टर 1 एवं 2, परेड, शास्त्री गाटा, कबीर नगर, 21.12.2022 को रामानुज मार्ग, गणपति मार्ग, जी0टी0 मार्ग, अरैल, 22.12.2022 को तुलसी मार्ग, 23.12.2022 को त्रिवेणी मार्ग, हरिश्चन्द्र मार्ग, 24.12.2022 को काली मार्ग, गंगोली शिवाला मार्ग एवं 25.12.2022 को समुद्रकूप मार्ग एवं इण्टर लाॅकिंग मार्ग से0-3, समयामाई मार्ग एवं अन्य संस्थाओं के लिए भूमि का आवंटन किया जायेगा।

मेलाधिकारी ने कहा है कि सुविधा पर्चियों की प्राप्ति हेतु पहचानयुक्त फोटो एवं आधार कार्ड प्रस्तुत करना अनिवार्य है। उन्होंने यह भी कहा है कि अपरिहार्य परिस्थितियों में उपरोक्त तिथियों में परिवर्तन सम्भव है। कहा है कि जिन संस्थाओं/प्रयागवालों द्वारा विगत वर्ष कुम्भ/महाकुम्भ/माघ मेला अथवा अन्य किसी वर्षों में टिन, टेण्टेज, फर्नीचर की सुविधायें प्राप्त कर वापस नहीं की गयी है, उन्हें वर्तमान वर्ष में किसी भी प्रकार की भूमि एवं सुविधा देय नहीं होगी। प्रत्येक शिविर धारक को मेले की सम्पूर्ण अवधि (माघी पूर्णिमा) तक शिविर बनाये रखना अपरिहार्य होगा। सुविधा पर्ची, भूमि आवंटन के 02 दिन बाद ही निर्गत की जायेगी। मेला प्रशासन द्वारा वैश्विक महामारी/आपदा आदि से सम्बन्धित आकस्मिकता की स्थिति में जारी नियमों/प्रावधानों का अनुपालन प्रत्येक व्यक्ति/संस्था द्वारा किया जाना अपरिहार्य होगा।