October 19, 2021

भ्रष्टाचार और घूसखोरी के आरोप में 3 मंत्रियों के निजी सचिव गिरफ्तार, 3 मंत्रियों के ओपी राजभर, अर्चना पांडेय और संदीप सिंह के निजी सचिवों पर एक न्यूज चैनल ने स्टिंग आपरेशन किया था।

Spread the love

वाराणसी/लखनऊ. योगी सरकार में तीन मंत्रियों के निजी सचिवों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इन पर भ्रष्टाचार और घूसखोरी का आरोप है। एक न्यूज चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में भ्रष्टाचार के आरोप में फंसे उत्तर प्रदेश के तीन मंत्रियों ओमप्रकाश राजभर, शिक्षा राज्य मंत्री संदीप सिंह और खनन राज्य मंत्री डाक्टर अर्चना पांडेय के निजी सचिवों को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया।
स्टिंग ऑपरेशन के सामने आने के बाद योगी सरकार ने इन तीनों निजी सचिवों को सस्पेंड कर दिया था और जांच के आदेश दे दिए गए थे। पिछले दिनों एक निजी चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में मंत्री ओमप्रकाश राजभर के निजी सचिव ओमप्रकाश कश्यप, खनन राज्यमंत्री अर्चना पांडे के निजी सचिव एसपी त्रिपाठी, बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह के निजी सचिव संतोष अवस्थी को अलग-अलग काम करवाने के बदले में पैसे का ऑफर लेते दिखाया गया था।
सचिवालय प्रशासन के अपर मुख्य सचिव महेश गुप्ता ने कहा था कि सरकार मामले की जांच करवाएगी, दोषी पाए जाने पर ऐसी कार्रवाई होगी जो दूसरों के लिए सबक साबित होगी। स्टिंग प्रसारित होने के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय ने अपर मुख्य सचिव को इस मामले में सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए थे। इसके तुरंत बाद ही अपर मुख्य सचिव, सचिवालय प्रशासन ने तीनों निजी सचिव के खिलाफ जांच के आदेश दे दिया। उसके बाद तीनों को सस्पेंड कर दिया गया था।

पिछले दिनों एक निजी चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में मंत्री ओमप्रकाश राजभर के निजी सचिव ओमप्रकाश कश्यप, खनन राज्यमंत्री अर्चना पांडे के निजी सचिव एसपी त्रिपाठी, बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह के निजी सचिव संतोष अवस्थी को अलग-अलग काम करवाने के बदले में पैसे का ऑफर लेते दिखाया गया था।
स्टिंग ऑपरेशन के बाद विपक्षी दलों ने योगी सरकार पर हमला बोला था। वहीं सीएम योगी ने तत्काल इस मामले में एक्शन लेते हुए तीनों निजी सचिवों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें तत्काल सस्पेंड कर दिया था।