October 22, 2021

भूमि अधिग्रहण बिल में संशोधन के विरोध में विपक्षी दल के द्वारा राजभवन के समक्ष धरना

Spread the love

झारखंड के सभी विपक्षी दलों के द्वारा आहूत भूमि अधिग्रहण बिल के खिलाफ एक दिवसीय महाधरना ने लिया रैल्ली का रूप।
राजभवन के समक्ष महाधरना में झाविमो, जेएमएम,कांग्रेस,राजद,माले एवम तमाम आदिवासी मूलवासी संगठनों के कार्यकर्ताओ ने दिखाई अपनी ताकत।
महाधरना में मुख्य रूप से झामुमो नेता हेमंत सोरेन, जेविएम विधायक प्रदीप यादव, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डा. अजय कुमार , आलमगीर आलम, सुबोधकांत सहाय, वृंदा करात, अन्नपूर्णा देवी, स्टीफन मरांडी, सुखदेव भगत, फुरकान अंसारी, बंधु तिर्की ओर विपक्षी दलों के कई नेता उपस्थित थे।
झारखंड विकास मोर्चा के विधायक प्रदीप यादव ने कहा कि झारखंड की जमीन लूट के लिए भूमि अधिग्रहण बिल में संशोधन किया है. यह लड़ाई रघुवर दास को गद्दी से हटाने तक जारी रहेगा.
झामुमो नेता हेमंत सोरेन ने कहा कि जमीन लूटने और आदिवासियों-मूलवासियों का अस्तित्व समाप्त करने के लिए सरकार यह कानून लायी है. जल, जंगल और जमीन को पूंजीपतियों के हाथों गिरवी रखने की साजिश की गयी है. आगे और धारदार आंदोलन होगा. जेल भरो आंदोलन चलाया जायेगा.