November 27, 2021

भक्ति गानों पर नाचते मूर्ति विसर्जन करने पहुचे लोग

Spread the love

Siyarammishra

वाराणसी । नवरात्र के समापन के बाद पंडालों और घरों में स्थापित शक्ति स्वरूपा की प्रतिमाओं का शनिवार को विसर्जन किया गया । मान्यता है की माँ मणिद्वीप से नवरात्र प्रतिप्रदा को मृत्यूलोक में आगमन और नवमी तिथि को प्रस्थान किया । भक्ति गानों के धुन पर नाचते गाते आयोजक सदस्य कुंड़ों और सरोवर तक पहुंचे । कोई प्रतिमाओं को विसर्जन से पहले नगर में भ्रमण कराया गया । विधि-विधान से पूजन करने और अगले वर्ष पुन: पधारने के निवेदन ( आग्रह ) के साथ मां की प्रतिमाओं को कुंड़ों में विसर्जित किया गया । शुक्रवार से चले विसर्जन का कार्य शनिवार की देर शाम तक चलता रहा ।
खिड़कियां घाट पर बनाया गए अस्थायी गंगा सरोवर में शुक्रवार को जिले की 78 प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया । इसमें 22 प्रतिमाएं आदमपुर थाना क्षेत्र की रहीं । प्रतिमा विसर्जन के लिए सड़क के एक छोर को आरक्षित किया गया था । इसके साथ ही खिड़कियां घाट की ओर जाने वाले मार्ग पर जहा लाइट की पर्याप्त व्यवस्था कि गई थी वहीं ड़ाटपुल के पास बकरीद के समय से फेका गया पशुओं के कटे अवषेश के दुर्गंध से सास लेना मुस्किल है उसी मार्ग से मां की प्रतिमा विसर्जन के लिए खिड़कियां घाट की ओर गई । मार्ग के किनारे प्रतिदिन और मलबा उसके उपर फेका जा रहा है जिससे वह स्थान एक टिला का स्वरूप लेलिया है ।
इंस्पेक्टर आदमपुर राजीव सिंह से जब इस विषय में पुछा तो उन्होंने ने अपने अधिकार के बाहर का हवाला देकर बात को टाल दिया ।
जब की यह स्थान बिहार , झारखंड , बंगाल को नगर में जोड़ने का मार्ग है । प्रति दिन सैकड़ों अधिकारी , राजनेता यहां तक मुख्यमंत्री योगी जी भी इस मार्ग से गए उस वक्त यहा टीन से बन्द कर दिया गया था ।