July 12, 2024

बरेका में आजादी के अमृत महोत्सव के परिप्रेक्ष्य में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों के अंतर्गत नाटक “अनेकता में एकता” का मंचन-

Spread the love

*बरेका में आजादी के अमृत महोत्सव के परिप्रेक्ष्य में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों के अंतर्गत नाटक “अनेकता में एकता” का मंचन*

 

“आजादी का अमृत महोत्सव” के अंतर्गत बनारस रेल इंजन कारखाना, वाराणसी में आज 1 अगस्त को नुक्कड़ नाटक “अनेकता में एकता का मंचन” के माध्यम से भारत की अनेकता में एकता की खूबसूरती को प्रभावी ढंग से प्रस्तुत कर देश की एकता और अखंडता का संकल्प लिया गया। उल्लेखनीय है कि बरेका प्रशासन ने भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में 1 से 14 अगस्त तक विशेष आयोजनों की रूपरेखा बनाई है, जिसका शुभारंभ आज प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी की उपस्थिति में अनेकता में एकता नामक नुक्कड़ नाटक के मंचन से किया गया।

 

बरेका सांस्कृतिक संस्था द्वारा सूर्य सरोवर प्रांगण में प्रस्तुत नुक्कड़ नाटक में भारतीय संस्कृति की सबसे समृद्ध एवं संपन्न संस्कृति और इसकी मूल पहचान को उजागर किया गया। हास्य-व्यंग्य प्रधान इस नाटक में दिखाया गया कि हमारे देश में अलग-अलग जाति और धर्म को मानने वाले लोग रहते हैं, जिनके खान-पान, पहनावा और बोली, परंपरा, रीति-रिवाज आदि में काफी अंतर है, लेकिन फिर भी यहां सभी लोग मिलजुल कर प्रेम और भाईचारे के साथ रहते हैं और यही भारत को विश्व के अन्य देशों से अलग बनाता है। नाटक में अमलेश श्रीवास्तव (इंस्पेक्टर), ताप्ती राय चौधरी (लक्ष्मी), मुकेश कुमार दुबे (पंडित), बहादुर प्रताप (लपेटू), सौम्या गुप्ता (चमेली), शरद कुमार श्रीवास्तव (बंता सिंह), संदीप कुमार (बंगाली बाबू), सुशील कुमार त्रिपाठी (गफूर मियां), मृत्युंजय कुमार (नाऊ), प्रवीण कुमार (कांस्टेबल) एवं नीरज उपाध्याय (सूत्रधार) ने प्रमुख भूमिकाएं निभाईं। बरेका के सुप्रसिद्ध रंगकर्मी सुधाकर मणि के निर्देशन में प्रस्तुत इस नाटक में राज सोनी ने संगीत प्रभाव तथा अरविन्द कुमार विश्वकर्मा, रतन कुमार एवं अनुज कुमार गुप्ता ने उपकरणों की व्यवस्था की। प्रस्तुति सहयोग नीरज कुमार एवं अविनाश कुमार सिंह का रहा। दल प्रबंधक आलोक कुमार सिंह रहे।

 

आरंभ में बरेका के जन संपर्क अधिकारी श्री राजेश कुमार ने अतिथियों का स्वागत अभिनंदन करते हुए 1 से 14 अगस्त तक आयोजित होने वाले कार्यक्रमों की जानकारी दी। नाट्य मंचन के उपरांत प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी एवं बरेका सांस्कृतिक संस्था के अध्यक्ष प्रदीप कुमार सिंह ने अपने संबोधन में नाटक की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए निर्देशक एवं कलाकारों को प्रोत्साहित किया। कार्यक्रम के अंत में वरिष्‍ठ कार्मिक अधिकारी श्री आर.के.चौधरी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्र-गान के साथ हुआ।

 

इस अवसर पर मुख्‍य यांत्रिक इंजीनियर/उत्‍पादन श्री सुनील कुमार, वरिष्‍ठ राजभाषा अधिकारी डॉ. संजय कुमार सिंह, संयुक्‍त सचिव, कर्मचारी परिषद श्री धर्मेन्‍द्र कुमार सिंह एवं सदस्‍य कर्मचारी परिषद श्री वी.डी.दुबे, श्री नवीन सिन्‍हा, श्री आलोक वर्मा, श्री प्रदीप यादव, श्री सुशील सिंह, श्री विनोद सिंह एवं महामंत्री/ओ.बी.सी.एसोसिऐशन श्री हरिशंकर यादव सहित काफी संख्‍या में बरेका अधिकारी, कर्मचारी एवं दर्शकगण उपस्थित रहे।