October 29, 2020

बंधु व उनके समर्थकों की बैठक

Spread the love

झाविमो छोड़ कर कांग्रेस में शामिल हाेनेवाले विधायक प्रदीप यादव और बंधु तिर्की अब भी पार्टी की मुख्यधारा में नहीं जुड़ पाये है़ं दोनों ही विधायकों को संगठन ने भी किनारे कर रखा है़ दोनों ही विधायक पार्टी की खेमेबंदी के भी शिकार हुए है़ं दोनों का मामला फिलहाल स्पीकर रवींद्र नाथ महतो के पाले मेें है़ सदन के अंदर श्री यादव व श्री तिर्की को अब तक कांग्रेस विधायक की मान्यता नहीं मिली है़ मामले में पार्टी की ओर से कोई पहल भी नहीं हुई है़ |

भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी के साथ सत्ता पक्ष के इन दोनों विधायकों का भी मामला लटका हुआ है़ प्रदेश नेतृत्व भी इन विधायकों को लेकर बहुत गंभीर नहीं है़ हालांकि इन दोनों विधायकों ने प्रदेश संगठन में आला नेताओं से इस दिशा में पहल करने को लेकर बात की है़ विधायक बंधु की बात प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव तथा विधायक दल के नेता आलमगीर आलम से हुई थी|

बंधु व उनके समर्थकों की बैठक से नेतृत्व दूर : मांडर विधायक बंधु तिर्की ने पिछले दिनों कई जिलों से कार्यकर्ताओ  को बुलाया़ उन्हें कांग्रेस की नीतियों व सिद्धांत से जुड़ने का पाठ पढ़ाया़ पर कांग्रेस प्रदेश नेतृत्व इस कार्यक्रम से दूर रहा़ प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव भी इसमें नहीं पहुंचे. पर कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर व रवींद्र सिंह इस बैठक में शामिल हुए़ |

सूचना है कि इन दोनों नेताओं का कार्यक्रम में शामिल होना भी प्रदेश के नेताओं को नागवार गुजरा़ है. विधायक प्रदीप यादव अपने विधानसभा क्षेत्र पोड़ैैयाहाट तक सिमटे है़ं पार्टी की ओर से श्री यादव को कोई जिम्मेवारी नहीं मिली है़ श्री यादव संतालपरगना सहित दूसरे क्षेत्रों में पार्टी को लेकर सक्रिय नहीं दिख रहे हैं |