January 23, 2021

फार्मेसी औषधि परीक्षण प्रयोगशाला एवं राष्ट्रीय मानक औषधि संग्रहालय बुंदेलखंड क्षेत्र के लिए वरदान- अजय मिश्रा

Spread the love

* फार्मेसी औषधि परीक्षण प्रयोगशाला एवं राष्ट्रीय मानक औषधि संग्रहालय बुंदेलखंड क्षेत्र के लिए वरदान

 

** केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान झांसी में जल्द ही 50 बेड की ओपीडी शुरू होगी- श्रीपद येसो नाईक

 

**कोरोना काल में बढ़ी आयुर्वेद की मांग,100 देशों में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुष पदार्थ कर रहे हैं सप्लाई

 

** ई- बुक पोर्टल लांच किया गया

 

आयुष राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सरकार श्रीपद येसो नाईक ने आज झांसी में लगभग 14 करोड़ की लागत से निर्मित फार्मेसी औषधि परीक्षण प्रयोगशाला एवं केंद्रीय मानक औषध संग्रहालय के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया उन्होंने कहा कि उक्त नवनिर्मित भवन का निर्माण डब्ल्यूएचओ के मानक अनुसार तैयार किया गया है, अतः इसे केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान के नाम से भी जाना जाएगा। उन्होंने बताया कि रॉ मेटेरियल जिसकी जरूरत आयुष मेडिसिन बनाने में पड़ती है उसकी भी व्यवस्था यहां की गई है, औषधि बनाने का काम भी यहाँ होगा यह एक मल्टीपल प्रोजेक्ट है। केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान बुंदेलखंड क्षेत्र के साथ ही संपूर्ण देश के लिए एक वरदान साबित होगा, यहां औषधि प्लांट एकत्र करने का अवसर मिलेगा, आज हमारे पास दो लाख वनस्पति औषधि का रिकॉर्ड है यह मैनुअल व डिजिटल स्वरूप में है जो सैकड़ों साल सुरक्षित व संरक्षित रहेगा।

आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सरकार श्रीपद येसो नाईक ने कहा कि कोरोना काल मे आयुर्वेद की मांग काफी बढ़ी है। 100 देशों ने भारत से काढ़ा समेत प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले आयुष पदार्थ मंगवाए हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार भी नए-नए क्षेत्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान खोल रही है। ताकि, क्षेत्रीय औषधियों पर शोध किया जा सके।

आयुष राज्यमंत्री(स्वतंत्र प्रभार) श्री श्रीपद यशो नाईक ने केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान की आधुनिक लैब और फार्मेसी बिल्डिंग का लोकार्पण करते हुए कहा कि कोविड काल के दौरान भारत ही नहीं संपूर्ण विश्व का आयुष पर विश्वास बढ़ा है। इस दौरान मंत्री जी ने आश्वासन भी दिया कि केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान झांसी में जल्द ही 50 बेड की ओपीडी शुरू करने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

कार्यक्रम में विधायक सदर श्री रवि शर्मा ने सर्वप्रथम माननीय राज्यमंत्री आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान झांसी में स्थापित करने के लिए आपका कोटि-कोटि धन्यवाद उन्होंने कहा कि कोविड काल में भी आप द्वारा प्रत्यक्ष रूप से उद्घाटन समारोह में झांसी आना यह दर्शाता है कि उक्त संस्थान कितना महत्वपूर्ण है, उन्होंने कहा कि प्रदेश में लगभग 1100 आयुष चिकित्सकों की नियुक्ति की जा चुकी है तथा वैलनेस सेंटर भी बन गए हैं जहां आयुर्वेद को बढ़ावा मिलेगा लोगों में आयुर्वेद के प्रति रुझान भी पैदा होगा। उन्होंने माननीय मंत्री जी से केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान में ओपीडी की सुविधा प्रदान करने के साथ ही साथ संस्थान द्वारा साहित्य उसको हिंदी में प्रचार प्रसार हेतु उपलब्ध कराए जाने का अनुरोध किया, जिसे माननीय मंत्री महोदय ने स्वीकार कर लिया।

केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान झांसी में फार्मेसी औषधि परीक्षण प्रयोगशाला एवं राष्ट्रीय मानक औषध संग्रहालय के नवनिर्मित भवन के उद्घाटन पर डॉक्टर जी एल एन शास्त्री सीईओ एनएमपीबी नई दिल्ली, एडिशनल सेक्रेटरी आयुष मंत्रालय श्री प्रमोद कुमार पाठक ने भी अपने उद्गार व्यक्त किए।

कार्यक्रम में प्रोफ़ेसर विद्या करतार सिंह धीमन, डायरेक्टर जनरल सीसीआरएएस ने सभी का स्वागत किया और धन्यवाद ज्ञापित डा.जी बाबू इंचार्ज सीएआरआई द्वारा किया गया।

इस मौके पर विशिष्ट अतिथि के रूप में मेयर श्री रामतीर्थ सिंघल, जिलाधिकारी श्री आंद्रा वामसी सहित अन्य अधिकारी और विद्यार्थी उपस्थित रहे।

 

—————————-

जिला सूचना कार्यालय द्वारा प्रसारित