May 24, 2022

प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों के चलते सभी दल अपनी-अपनी तैयारियों में जुट गए- अजय मिश्रा

Spread the love

प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों के चलते सभी दल अपनी-अपनी तैयारियों में जुट गए है। इसी क्रम में अब समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम खान आज सीतापुर जेल से रिहा होंगे। गलत जन्म प्रमाण पत्र के मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उनकी विधायकी छीन ली थी, जिसके बाद फरवरी 2020 से ही अब्दुल्ला आजम सीतापुर जेल में बंद थे। हालांकि इस बार वह चुनाव लड़ेंगे या नहीं, इसका पता नही चल पाया है।

 

अब्दुल्ला आजम पर कई मुकदमें दर्ज

आपको बता दें कि, अब्दुल्ला आजम पर 43 मुकदमें दर्ज हुए थे, लेकिन अब सभी मामलों में उन्हें जमानत दे दी गई है। जिसके बाद आज शाम 4 बजे वह जेल से बाहर आ सकते हैं। दरअसल, अब्दुल्ला आजम के ऊपर चल रहे मुकदमों के जो हालात हैं, उसके मुताबिक उनके चुनाव लड़ने पर कोई पाबंदी नहीं होगी, क्योंकि उन्हें अभी तक किसी भी आपराधिक मुकदमे में सजा नहीं हुई है।

 

इस कारण हुई सदस्यता रद्द

बता दें कि, अब्दुल्ला आजमपर गलत जन्म प्रमाण पत्र देने का मामला उन पर साबित हुआ था। दरअसल, रामपुर की स्वार सीट से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़े नवाब काजिम अली खां ने अब्दुल्ला आजम के खिलाफ इलेक्शन पिटीशन दाखिल की थी। जिसके बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 16 दिसंबर 2019 को उनकी सदस्यता रद्द करने के आदेश दिये थे। आरोप था कि जब 2017 का चुनाव अब्दुल्ला आजम ने लड़ा था तब उनकी उम्र 25 साल नहीं हुई थी।

 

इस कारण नहीं आए जेल से बाहर

दरअसल, आजम खान के खिलाफ कई मुकदमे दर्ज कराने वाले आकाश सक्सेना ने एक और खुलासा किया, सक्सेना ने कहा कि अब्दुल्ला आजम मारे डर के जेल से बाहर नहीं आ रहे हैं। उनकी जमानत तो 18 सितंबर को ही हो गयी थी, लेकिन, किसी भी जमानती के सामने न आने के कारण वे जेल से बाहर नहीं आए।