May 28, 2022

पुलिस की लापरवाही के कारण वृद्ध साध्वी दर-दर की ठोकर खाने को मजबूर

Spread the love

प्रयागराज – जूना अखाड़ा की महन्त महादेव गिरी ने आरोप लगाया है कि मकान नम्बर 74/45 दारागंज में रजिस्ट्री का झाँसा देकर उनसे पैसा ऐंठा और बिना रजिस्ट्री के मकान में रखवा दिया, और सितम्बर 2020 से साध्वी रजिस्ट्री के धोखे में उसी मकान में रहने लगीं, लेकिन 15ऑक्टूबर को 2021 को अखाड़े सम्बन्धित कार्यों हेतु साध्वी जूना अखाड़ा लिली परिक्रमा द्वारिकापुरी चली गईं, तत्पश्चात 25दिसम्बर को वापस आने पर साध्वी ने देखा उनके मकान का ताला टुटा हुआ था, और उसमें कोई और व्यक्ति रह रहा था, जिसने साध्वी के पूछने पर बताया कि उसने वीपेन्द्र मिश्र से मकान खरीद लिया है, साध्वी का कहना है कि उनका सामान मकान से गायब है, जिसमें सोने चाँदी के मढ़े हुए रुद्राक्ष, कीमती दत्तात्रेय, ईश्वर की मूर्तियां एवं कई चाँदी के सिक्के,नकदी घरेलू सामान, कपड़े सब गायब हैं,
पीड़िता साध्वी ने थाना प्रभारी से यही अनुरोध किया है कि साध्वी द्वारा रजिस्ट्री के लिए दिया गया पैसा व सारा कीमती सामान मिश्रा से वापस दिलाया जाए और एक बृद्ध साध्वी को जो दर -दर भटकने को मजबूर किया, ऐसे व्यक्ति के विरुद्ध दण्डात्मक कार्रवाई करने की माँग की है, साध्वी का कहना है कि वह पुलिस के उच्चाधिकारियों से भी कई बार बात की हैं मगर अभीतक किसी ने कोई मदद नहीं की है सभी सिर्फ आश्वासन देके टरका देते हैं योगीजी के राज में एक बृद्ध साध्वी दर -दर की ठोकर खा रही है यह प्रशासन पर बड़ा प्रश्नचिन्ह है..?