December 5, 2021

पीएम मोदी वह सीएम योगी के राम राज में भी।…….

Spread the love

कृष्ण मोहन उर्फ बग्गा

****************

पीएम मोदी वह सीएम योगी के राम राज में भी बदहाल है पुष्कर तालाब 14 वर्षों मैं भी नहीं हो सका सुंदर वाराणसी 6 दिसंबर वाराणसी के सांसद नरेंद्र मोदी जी के संसदीय क्षेत्र में विकास की खूब गंगा बह रही है 29 हजार करोड़ से भी ज्यादा पैसा बनारस के विकास पर खर्च हो चुका है और आगे और भी खर्चा होगा होगा। लेकिन इस विकास की धारा में एक ऐसा तालाब जो अपने प्राचीनता और पौराणिकता के लिए प्रसिद्ध है । शिव पुराण और काशी पुराण में वर्णन है कि जब भगवान शंकर कैलाश से प्रथम बार काशी आए थे तो इस तालाब के जल से भगवान शंकर का अभिषेक हुआ था जी हां हम बात कर रहे हैं काशी के केदारखंड के असि नदी के तट पर स्थित प्राचीन पुष्कर तालाब की जिसे पुराणों ने पुष्कर तीर्थ की उपाधि दी है। आज से 14 वर्ष पूर्व यह तालाब पूरी तरह से कूड़ो से पटा हुआ था खरपतवार व बेहाया का इतना पेड़ था कि जानवर इस तालाब पर विचरण करते थे लेकिन 2004 में नगर के कुंडो तालाबों के लिए संघर्षरत एवं जागृति फाउंडेशन के महासचिव रामयश मिश्र व उनकी मोहल्ले की युवा टीम ने 6 महीने के अथक प्रयास से इस तालाब को पूरी तरह से साफ कर दिया तालाब के लिए चले श्रमदान में एनसीसी राष्ट्रीय सेवा योजना पीएससी के जवानों सहित वाराणसी नागरिक समाज की टीम के साथ साथ देश के प्रसिद्ध पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा प्रसिद्ध कथा वाचक मोरारी बापू उस समय के वर्तमान नगर आयुक्त लाल जी राय उस समय के वर्तमान एडीएम सिटी स्वर्गीय नलिन अवस्थी वह अटल राय सहित महाराष्ट्र से आए साधु-संतों का सहयोग सराहनीय था। रामयश मिश्र ने बताया कि लोकसभा चुनाव में काशी से चुने गए उस समय के सांसद डॉ राजेश कुमार मिश्रा ने इस तालाब के सुंदरीकरण के लिए 4:30 करोड़ रुपया पास कराया और काम भी शुरू हो गया धीरे-धीरे ही सही काम चला और लगभग तीन करोड़ का काम भी हुआ लेकिन फिर काम रूक और आज 4 साल से काम बंद है। अधिकारियों के कार्यालयों में चक्कर लगाते लगाते थक गए हैं । अधिकारियों का एक ही जवाब आता है जल्द ही काम शुरू होगा । उनका जल्द कब आएगा यह किसी को पता नहीं है। इस तालाब के लिए पैसा पास होने के बावजूद काम न होना एक बड़ी अजीब बात है । काम की देरी के कारण तालाब की सीढ़ियां फिर से खराब हो रही है सीढ़ियों पर जानवर टहल रहे है जिसके कारण तलाब पर लगे टाइल्स खराब हो रहे हैं । तालाब एक बार फिर जलकुंभी से फट गया है। साथ ही साथ सीढ़ियों पर गिराया जाए जा रहे पानी से तालाब की सीढ़ियों पर काई जम रही है। 3 दिसंबर को हिंदुस्तान अखबार द्वारा पुष्कर तालाब पर दी गई रिपोर्ट में कार्यदाई संस्था सीएनडीएस के प्रोजेक्ट मैनेजर शाहिद अली ने कहा कि अभी मैं नया नया आया हूं जल्द ही इसके बारे में तहकीकात कर काम शुरू कराऊंगा । आज एक महीना से ऊपर हो गया । उनका पता नहीं तहकीकात पूरा हुआ या नहीं लेकिन तालाब पर काम नहीं शुरू हो सका । हमारे माननीय प्रधानमंत्री मोदी एवं सीएम योगी एवं उनके अधिकारियों द्वारा वाराणसी के विकास की मिनट टू मिनट मॉनिटरिंग की जा रही है उसके बाद भी इस तालाब के सुंदरीकरण का कार्य रुका रहना आश्चर्यचकित करता है । जहां एक तरफ पूरे देश में बनारस के विकास के चर्चा हो रही है वहीं यह तालाब अपने सुंदरीकरण का आस जो हो रहा है।

www.mvdindia news.in