December 5, 2021

पिछले 6 साल से अवैध तरीके से चल रही थी पटाके की फैक्ट्री

Spread the love

सियाराम मिश्रा
वाराणसी । लहरतारा निवासी रिंकू भारती उर्फ कुणाल सिंह बीते छह साल से अवैध तरीकें से पटाका बेचने का धंधा कर रहा था । रिंकू के पडोसियों ने बताया कि पटाखों के अवैध भंडारण की शिकायत कई बार पुलिया से की गई थी , मगर जब भी सिपाही या दरोगा आते वे उसी का पक्ष लते रहे । वह लोगों को धमकी देता की हम तुम्हें एससी-एसटी एक्ट के मुकदमे में फसा दूगा । पुलिस ने शिकायत को गंभीरता से लिया होता तो यह नौबत नहीं आती ।
आसपास के लोगों ने यह भी बताया कि झगड़ालू प्रवृत्ति के रिंकू से पड़ोस और मुहल्ले के ज्यादातर लोग मेलजोल नहीं रखते थे । यही कारण है कि पड़ोसी उसकी बच्ची तक का नाम नहीं बता पा रहे थे। रिंकू द्वारा पटाखों के अवैध भंडारण व बेजे जाने से लोकल इंटेलिजेंस यूनिट , लहरतारा पुलिस चौकी प्रभारी और बीट आरक्षी कीभूमिका भी सवालों के घेरे में आ रही है ।
क्षेत्रीय लोगों का मानना है कि विभागीय जांच शुरू होगी तो कई पुलिसकर्मी और एलआईयू कर्मी भी कार्रवाई की जद में आएंगे ।
रिंकू भारती की पहचान क्षेत्र में सबसे सस्ता पटाखे उपलब्ध कराने वाले थोक व्यापारी के रूप में थी । पिछले चार सालों से वह इस कारोबार से जुड़ा रहा । आस-पड़ोस के लोगों की मानें तो ज्यादा फायदा कमाने के चक्कर में उसने इस बार पटाखे बनवाने का धंधा अपने घर पर ही शुरू कर दिया था । प्रथम तल पर पटाखे तैयार किए जाने लगे । मगर यह काम इतने सफाई से किया जाता रहा कि पास-पड़ोस के लोगों को भी इसकी भनक तक नहीं लग सका