May 18, 2022

पहले फेसबुक पर बनी दोस्‍त, फिर वीडियो कॉल पर की मौज-मस्‍ती, जानें आगे की हैरतअंगेज कहानी-

Spread the love

पहले फेसबुक पर बनी दोस्‍त, फिर वीडियो कॉल पर की मौज-मस्‍ती, जानें आगे की हैरतअंगेज कहानी

 

 

पटना. तमाम तरह के जागरुकता अभियान और चेतावनी के बावजूद लोग साइबर क्रिमिनल्‍स के बिछाए जाल में फंस रहे हैं. ताजा मामला बिहार की राजधानी पटना का है, जहां एक व्‍यवसायी साइबर अपराधियों के चंगुल में फंस गया. पीड़ित बिजनेसमैन से रुपये ऐंठे गए, लेकिन जब साइबर क्रिमिनल्‍स की डिमांड लगातार बढ़ती गई तो व्‍यवसायी को पुलिस की शरण में जाना पड़ा. तब तक वह हजारों रुपये गंवा चुके थे. बिजनेसमैन का सोशल मीडिया के जरिये एक महिला से संपर्क हुआ था. इसके बाद दोनों के बीच फोन नंबर का आदान-प्रदान हुआ और साथ ही वीडियो कॉल पर बातचीत भी शुरू हो गई. बातचीत का यह सिलसिला अश्‍लीलता तक पहुंच गया. एक दिन महिला ने बिजनेसमैन को वीडियो रिकॉर्डिंग दिखाकर पैसे मांगने शुरू कर दिए. महिला ने धमकी दी कि यदि उन्‍होंने पैसे नहीं दिए तो मौज-मस्‍ती का वीडियो वायरल कर दिया जाएगा.

 

जानकारी के अनुसार, साइबर क्रिमिनल्‍स बिजनेसमैन से सवा लाख रुपये ऐंठ चुके थे और उनकी मांग लगातार बढ़ती ही जा रही थी. इसके बाद बिजनेसमैन परेशान हो गया. बताया जाता है कि कंकड़बाग थाना के अशोक नगर में एक कारोबारी को एक महिला से वीडियो कॉल पर रंगरलियां मनाना भारी पड़ गया. महिला ने स्क्रीन रिकार्डिंग भेज वीडियो वायरल करने की धमकी दी और उसके बाद कारोबारी को ब्लैकमेल करने लगी. देखते ही देखते ब्लैकमेलर महिला ने कारोबारी से सवा लाख रुपये वसूल कर लिए. पैसे की मांग लगातार बढ़ती जा रही थी. जब कारोबारी द्वारा मांग पूरी करने से असमर्थता जताई गई तो उसे साइबर सेल अधिकारी बनकर एक शख्स ने कॉल किया और जेल भेजने की धमकी देते हुए अलग-अलग नंबरों पर रुपये जमा करने को दबाब बनाया. तंग आकर कारोबारी ने कंकड़बाग थाने में केस दर्ज करवाया.

 

ऐसे शिकार बना बिजनेसमैन

शिकायत के बाद पुलिस मोबाइल नंबर और बैंक अकाउंट का पता लगाने में जुटी है, जिसमें किस्तों में 1.25 लाख रुपये जमा करवाए गए थे. जानकारी के मुताबिक, कुछ दिन पहले कारोबारी के फेसबुक अकाउंट पर एक महिला ने फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी. रिक्वेस्ट स्वीकार करने के बाद महिला मैसेंजर पर चैट करने लगी और वीडियो कॉल पर मौज-मस्ती करने का ऑफर तक दे दिया. इसके बाद महिला ने व्‍यवसायी से मोबाइल नंबर मांगा और वीडियो कॉल पर बातचीत का सिलसिला शुरू हो गया.

 

राजस्‍थानी भाषा में बात कर रही थी महिला

कारोबारी ने पुलिस को जनकारी दी कि वीडियो कॉल पर कोई और महिला दिख रही थी, जबकि फेसबुक प्रोफाइल पर किसी और महिला की तस्वीर लगी थी. अश्लील हरकत करने के बाद महिला ने कॉल काट दी और उसके पांच मिनट बाद ही व्‍हाट्सएप की स्क्रीन रिकार्डिंग भेजी. महिला राजस्थान कि भाषा मे बात कर रही थी. वह स्क्रीन रिकार्डिंग इंटरनेट मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर किस्तों में 5-10 हजार UPI के माध्यम से खाते में डलवाने लगी. बाद में जब कारोबारी पर आर्थिक बोझ अधिक पड़ गया तो उसने पैसा देने में लाचारी जाहिर कर दी. इसके बाद जब उसे धमकी मिलने लगी तो कारोबारी ने पुलिस की शरण ली. अब पुलिस इस पूरे मामले की छानबीन में जुटी है.