May 18, 2022

दो बच्चीयों के लिए मसीहा बने सरदार परगन सिंह – पंजाब

Spread the love

2 बच्चीयों के लिए मसीहा बने सरदार परगन सिंह

मसीहा बने सरदार परगन सिंह वह नाम है कि दो बच्चीयों की जिंदगी ही बदल दी

सूचना के अनुसार सरदार जी से मिलने पहुंच गए पंजाब के जिला शहीद भगत सिंह नगर के गांव महल गहला में गांव से कई लोगो से पूरी जानकारी लेने के बाद सरदार परगन सिंह जी के घर पर पहुंचे सरदार जी घर पर ही थे पंजाबी लस्सी के साथ देशी खान-पान के साथ ही बातचीत की सिलसिला जारी हुआ सरदार जी ने अपना नाम पता से अपना परिचय देते हुए बताया कि लगभग 06 वर्ष पहले झारखंड के रहने वाले एक मजदूर गांव के किसी किसान के मोटर पर रह कर मजदूरी का काम करता था जिसके दो बच्ची थी पत्नी पहले ही मर चुकी थी उस मजदूर का भी 20 अगस्त 2018 में किसी कारण से मौत हो गई दोनो बच्ची अपना पहचान, पता बता पाने में असमर्थ थी और गांव के लोग भी रखने को तैयार नही थे उस समय दोनों बच्चीयों को अपने घर ले आये और दोनों बच्चीयों को अपने देख-रेख में खाना-पानी,कपड़े ,स्कूल भी भेजना चालु किये आज बडी बच्ची मुन्नी मुंडरी 15 वर्ष की हुई (12 वी )इंटर सेकेंडियर में पढ़ाई करती हैं जिसके ( 10 वी ) हाईस्कूल में 650 मेसे 645 अंक प्राप्त कर अपना नाम टॉपर में दर्ज कराई थीं और छोटी दूसरी बच्ची सुशीला 13 वर्ष की है 7 वी क्लास में है छठी कक्षा में 600 मेसे 565 नम्बर लाकर आपने पूरे स्कूल में दूसरा स्थान प्राप्त किया था सरदार जी की सरदारी रंग ला रही हैं सरदार जी दोनो बच्चों के पढ़ाई से बहुत खुश है और दोनो बच्चों के नाम से शादी के लिए अग्रिम सोच रखते हुए लगभग चार लाख रुपये भी बैंक में फिक्स किये हैं।
सरदार जी मानवता की अपनी परिचय देते हुए अपनी कर्तव्यों की बखूबी निभा रहे हैं
लेकिन लम्बे लम्बे बहस व भाषण देने वालो कि निगाह चार वर्षों से इन बच्चों को क्यों नही देखा या देखना नही चाहते सरकार, समाज, संगठन, संस्थायें ,गैरसरकारी कहा है क्या इनके लिए एक भी नहीं है।
वैसे इस सरहनीय कार्य के लिए सरदार जी के सरदारी को MVD इंडिया न्यूज परिवार के तरफ से दिल से बहुत बहुत धन्यवाद।🌹🙏💪👍