February 24, 2024

दरोगा की कार से चोरी गई सरकारी पिस्टल के साथ दो गिरफ्तार, दरोगा निलंबित-

Spread the love

प्रयागराज: दरोगा की कार से चोरी गई सरकारी पिस्टल के साथ दो गिरफ्तार, दरोगा निलंबित_____

 

प्रयागराज जंक्शन के गेट नंबर 6 के सामने से दरोगा की निजी कार में रखी सरकारी पिस्टल गायब हो जाने के प्रकरण में थाना खुल्दाबाद पुलिस द्वारा दो अभियुक्तों गिरफ्तार किया गया और सरकारी पिस्टल व मैग्जीन बरामद किया गया|

 

बता दें कि 21 व 22 जनवरी की रात्रि चौकी प्रभारी कर्बला जगनारायण के अपनी निजी कार इटियॉस संख्या UP-70 BZ-5055 से माघ मेला ड्यूटी जाते समय रेलवे स्टेशन प्रयागराज जंक्शन के गेट नंबर 6 के सामने से गाड़ी में रखी सरकारी पिस्टल मय मैग्जीन मय कारतूस गायब हो गई थी। पुलिस उपायुक्त नगर संतोष कुमार मीणा ने बताया कि सरकारी पिस्टल गायब होने की सूचना पर पुलिस उच्चाधिकारियों द्वारा जब चौकी प्रभारी से बात करने का प्रयास किया गया तो इनका मोबाइल स्विच ऑफ मिला तथा चौकी प्रभारी भी थाना क्षेत्र में नहीं मिला। फलस्वरुप प्रभारी निरीक्षक खुल्दाबाद की तहरीर पर दरोगा जगनारायण के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत किया गया| प्रकरण की गम्भीरता के दृष्टिगत अतिरिक्त पुलिस आयुक्त प्रयागराज के निर्देशन में पुलिस उपायुक्त नगर के पर्यवेक्षण व सहायक पुलिस आयुक्त, कोतवाली के नेतृत्व में घटना के अनावरण व बरादमगी हेतु टीम का गठन किया गया|

 

वहीं बुधवार को प्रभारी निरीक्षक अनुराग शर्मा थाना खुल्दाबाद, निरीक्षक दीनदयाल सिंह थाना खुल्दाबाद, दरोगा अमित सिंह, दरोगा लालभरत यादव, दरोगा धीरेन्द्र यादव, दरोगा अजय कुमार, महिला आरक्षी स्वाती सिंह, आरक्षी सुमित, आरक्षी सौरभ सहित खुल्दाबाद पुलिस टीम द्वारा मुखबिर की सहायता, संदिग्ध मोबाइल की लोकेशन, आईसीसीसी एवं रेलवे के कैमरों को गहराई से चेक कर संदिग्ध व्यक्तियों से पूँछ-ताँछ करते हुए घटना में संलिप्त अभियुक्त विशाल सोनकर पुत्र इन्द्र सिंह सोनकर निवासी गढ़ीकला थाना शाहगंज व बबिता उर्फ तमन्ना पत्नी विशाल सोनकर पुत्री स्व. मोहन लाल निवासिनी जीटी रोड मन्दर मोड शेखपुर थाना पुरामुफ्ती, हाल पता 85 गढ़ीकला थाना शाहगंज को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से सरकारी पिस्टल मय मैग्जीन बरामद की गयी। इनका तीसरा साथी निहाल मौके से फरार हो गया, जिसके पास दस अदद कारतूस होना संज्ञान में आया है। गिरफ्तार दोनों अभियुक्तगण से विस्तृत पूँछ-ताँछ में यह तथ्य संज्ञान में आया कि दरोगा अपनी गाड़ी गेट नंबर 6 के पास खड़ी करके पैदल ही मोबाइल पर बात कर रहे थे, इसी दौरान अभियुक्तगण द्वारा गाड़ी में रखी इनकी पिस्टल गायब कर दी गयी|

 

घटना में दरोगा की भूमिका पर गहराई से विवेचना प्रचलित है। मामले मे दरोगा जगनारायण को निलम्बित किया गया है। पुलिस टीम के अथक प्रयास एवं परिश्रम से पिस्टल व मैग्जीन की बरादमगी की गयी|