May 22, 2022

दना दन कर रही है बस्ती पुलिस मुठभेड़, हर अपराधी के पैर में लगती है गोली, बस्ती पुलिस जांच के घेरे मे-

Spread the love

*दना दन कर रही है बस्ती पुलिस मुठभेड़, हर अपराधी के पैर में लगती है गोली, बस्ती पुलिस जांच के घेरे मे*

 

अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जितेंन्द्र कुमार

 

*बस्ती*।अपनी ही पीठ को थप थपाने वाली बस्ती पुलिस लगातार अपराधियों पर अंकुश लगाने के लिए मुठभेड़ का सिलसिला जारी रखी है पुलिस और अपराधियों के बीच में मुठभेड़ बनी बस्ती जिले में पहेली पुलिस एवं अपराधियों के बीच मुठभेड़ के दौरान अपराधी के दाहिने पैर या बाएं पैर में लगती है गोली।इतनी सटीक गोली लगती है की हड्डी भी नहीं फैक्चर होता है और पुलिस को गोली छूकर निकल जाती है बाल बाल बच जाते हैं पुलिस कर्मी, बस्ती पुलिस की कथनी करनी पर एक बड़ा सवाल खड़ा होता है क्या यही है पुलिस एवं अपराधियों के बीच मुठभेड़ की रूपरेखा, जबकि कानपुर वाले पंडित जी विकास दुबे के साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई थी बीकरू कांड पूरे देश में साबित हो गया था कि पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई है जिसमें कई पुलिसकर्मी भी शहीद हुए थे लेकिन बस्ती जिले में पुलिस की निशानेबाजी किसी चैम्पियन से कम नहीं है हर बार पुलिस रिपोर्ट बनाने में माहिर है बदमाश के पैर में लगी गोली, मीडियाकर्मी भी बिना किसी सवाल जवाब के प्रेस नोट को उठाते हैं और छाप देते इलेक्ट्रॉनिक मीडिया भी यही काम कर रही है समझ में नहीं आता मीडिया किस हद तक गिरेगी, जब इंसान का मौलिक अधिकार छीन लिया जाता है तब देश में तांडव होता है, सच लिखने की सजा मुकदमा बाजी होती है लेकिन मीडियाकर्मियों को हमेशा यही सोचना चाहिए कि हम जनता के हित में काम करें आज जनता में एक ही चर्चा होती है मीडिया बिक चुकी है, सही लिखने पर मीडिया कर्मी साबित कर सकते हैं हम बिकाऊ नहीं हैं हमें किसी को खरीदने की कोई औकात नहीं है। हम संविधान में स्वतंत्र हैं और हमें पूरा अधिकार है सच लिखने की, बस्ती पुलिस जिस तरह से मुठभेड़ प्रेस विज्ञप्ति में दिखाती रही है ईमानदारी से जांच हो जाए तो कितने पुलिसकर्मी नौकरी के लायक नहीं रहेंगे, अगर किसी ने हाईकोर्ट में मानवाधिकार के लिए रिट दाखिल किया तो फस जाएगी बस्ती पुलिस क्योंकि प्रेस विज्ञप्ति में जो अवैध असलहा दिखाया जाता है वह गोरखपुर रेलवे स्टेशन से खरीदा हुआ दिखाया जाता है और उसका सरगना बिहार का रहने वाला बताया जाता है लेकिन अभी तक बस्ती पुलिस सरगना तक नहीं पहुंच पाई