January 21, 2021

ड्रग्‍स केस में आरोपी हुए बरी..

Spread the love

ड्रग्‍स केस में आरोपी हुए बरी तो महिला पुलिस अफसर ने लौटा दिया वीरता मेडल

नई दिल्‍ली. मण‍िपुर (Manipur) में एक ड्रग्‍स केस (Drugs Case) में आरोपियों के बरी होने के बाद एक महिला पुलिस अफसर ने अपना वीरता पुरस्‍कार लौटा दिया है. इस पुलिस अफसर का नाम थौनाओजम बृंदा (Thounaojam brinda) है. दरअसल इस ड्रग्‍स केस में बीजेपी के पूर्व एडीसी चेयरमैन समेत 7 लोगों पर आरोप दर्ज हुए थे. लेकिन अब कोर्ट ने सभी को बरी कर दिया है. ऐसे में बृंदा ने अपना मुख्‍यमंत्री वीरता पुरस्‍कार लौटा दिया है.

महिला पुलिस अफसर बृंदा को ड्रग्‍स मामले में जांच के सिलसिले में यह वीरता मेडल दिया गया था. अब उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री एन बीरेन सिंह को एक पत्र लिखकर मेडल लौटाने की वजह कोर्ट का आदेश बताया है. दरअसल कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए सभी आरोपियों को ड्रग्‍स केस में बरी कर दिया था. कोर्ट ने मामले में जांच को असंतोषजनक माना है. पुलिस अफसर के अनुसार कोर्ट ने इस मामले में जांच को असंतोषजनक माना है इसलिए वह अपना पदक लौटा रही हैं.

बता दें कि मणिपुर की महिला पुलिस अफसर थौनाओजम बृंदा को 13 अगस्‍त 2018 को राज्‍य सरकार ने ड्रग्‍स के लिखाफ जंग में अहम योगदान देने के लिए मुख्‍यमंत्री वीरता पदक से नवाजा था. पुलिस अधिकारी ने राज्य सरकार के लिए पूरे सम्मान के साथ और एनडीपीएस अदालत के फैसले का पालन करते हुए मेडल वापस लौटाने की पेशकश की है.

लामफेल की एनडीपीएस कोर्ट ने बीजेपी के पूर्व स्वायत्त जिला परिषद (एडीसी) के अध्यक्ष लुखोशी जो समेत 7 लोगों को ड्रग्‍स मामले में बरी कर दिया है. इन सभी का ड्रग्‍स केस में नाम आया था. जानकारी के मुताबिक इस केस में भारी मात्रा में ड्रग्‍स भी बरामद की गई थी.