July 6, 2022

डायल 112 में अवैध वसूली की शिकायत पर एसएसपी प्रभाकर चौधरी का एक्शन,सीधे 500 सिपाहियों का किया ट्रांसफर-

Spread the love

*यूपी : डायल 112 में अवैध वसूली की शिकायत पर एसएसपी प्रभाकर चौधरी का एक्शन,सीधे 500 सिपाहियों का किया ट्रांसफर*

 

यूपी सरकार ने जनता की मदद के लिए डायल 112 की सेवा की शुरू की ताकि जनता को तत्काल पुलिस की मदद मिल सके। वहीं मेरठ में अलग ही मामला सामने आया है। मेरठ एसएसपी प्रभाकर चौधरी को डायल 112 में कार्यरत पुलिस जवानों के अवैध गतिविधियों में शामिल होने की सूचना मिलने पर सख्त कार्रवाई की है। एसएसपी मेरठ प्रभाकर चौधरी ने बड़ा एक्शन लेते हुए डायल 112 पर तैनात 500 सिपाहियों का ट्रांसफर कर दिया है।

 

*कई मामलों में हो रही गोपनीय जांच*

 

दरअसल, अवैध गतिविधियों और भ्रष्टाचार में लिप्त पुलिसकर्मियों पर निगरानी रखने के लिए एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने पिछले वर्ष मेरठ में कार्यभार संभालते ही व्हाट्सएप नंबर जारी किया था. जिस पर पिछले कुछ समय से डायल 112 पर तैनात पुलिसकर्मियों की शिकायतें लगातार मिल रही थीं. आरोप था कि डायल 112 कर्मी अवैध गतिविधियों को अंजाम दिलवाते हैं. पुलिसकर्मियों का यह फेरबदल लंबे समय से एक ही इलाके में बने कोकस को तोड़ने के लिए किया गया है. इसी के साथ ही पुलिस कई मामलों में गोपनीय जांच भी करा रही है.

 

*जांच में हुआ ये खुलासा*

 

दरअसल, जब इस मामले में एसएसपी ने जांच कराई तो पोल खुली. जांच में खुलासा हुआ कि कई पुलिसकर्मी 5 से 6 साल से एक ही रूट पर जमे हुए हैं. साथ ही अवैध गतिविधियों में संलिप्त हैं. फिर क्या था, एसएसपी ने एक साथ 500 पुलिसकर्मियों का ट्रांसफर कर दिया. जिसमें डायल 112 में तैनात दरोगा, सिपाही, हेड कांस्टेबल समेत होमगार्ड को भी शामिल हैं. जल्द ही इस मामले में दोबारा और बड़ा एक्शन हो सकता है एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने डायल 112 में तैनात सभी पुलिस कर्मियों का डाटा मंगा लिया और देखा की किसकी तैनाती कब हुई और कितने सालो से एक ही क्षेत्र में तैनात हैं।

 

*तत्काल किया गया ट्रांसफर, चलेगी जांच*

 

जांच में पता चला की डायल 112 पर तैनात पुलिस कर्मी एक ही रूट मार्ग पर 5 या 6 साल से कार्यरत है। कप्तान ने चिन्हित किए 500 पुलिस कर्मियों को डायल 112 से तत्काल हटा कर उनकी जगह अन्य थानों से सिपाही की ड्यूटी लगा दी गई है। वहीं पुराने जमे हुए सिपाहियों अब जनपद की विभिन्न थानों में तैनाती दी जायेगी। इसके साथ ही उनकी जांच भी जारी रहेगी।

 

*अवैध गतिविधियों को अंजाम दे रहे थे-एसएसपी*

 

 

वंही इस पूरे मामले पर एसएसपी प्रभाकर चौधरी का कहना है की यूपी में 112 पर तैनात पुलिसकर्मियों को लगातार शिकायते मिल रही थी और सभी लंबे समय से एक ही रूट पर तैनात थे और अवैध गतिविधियों को अंजाम दे रहे थे। सभी पुलिस कर्मियों का ट्रांसफर कर दिया गया है और जांच की करवाई जा रही है।

एसएसपी प्रभाकर चौधरी इससे पहले वाराणसी, बुलन्दशहर, बिजनौर, सीतापुर, मुरादाबाद जिले के कप्तान रह चुके हैं। उनकी गिनती तेज तर्रार और ईमानदार आईपीएस अफसरों में होती है। ज्यादातर जिलों में उनका कार्यकाल 6 से 8 महीने तक रहा है।